‘बॉल गर्ल’ के रूप में अपना सफर शुरू करने वाली झूलन गोस्वामी बनीं ODI में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली महिला क्रिकेटर

0
72
.

स्पोर्ट्स डेस्क। भारतीय महिला टीम की पूर्व कप्तान तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) आज यानी 25 नवंबर को अपना 38वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं. झूलन सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की ही तरह बॉल बॉय या बॉल गर्ल के रूप में अपने सफर की शुरुआत की थी. ‘चकदहा एक्सप्रेस’ के नाम से मशहूर झूलन गोस्वामी को वनडे क्रिकेट में विश्व में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली महिला क्रिकेटर होने का गौरव हासिल है. झूलन पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के चकदहा इलाके से सम्बंध रखती हैं.

1997 के महिला विश्व कप में मिला बॉल गर्ल बनने का मौका

झूलन ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था, ”1997 का महिला विश्व कप भारत में हो रहा था और मैं भाग्यशाली थी कि मुझे उसके टिकट मिले थे. मुझे विश्व कप के बारे में 100 प्रतिशत जानकारी नहीं थी. लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने लड़कियों के स्कूल में कुछ टिकट भेजे थे और मैं खेलों से जुड़ी हुई थी, इसलिए मैं सौभाग्यशाली थी कि मुझे भी टिकट प्राप्त हुए. मेरे पिता मुझे मैच के लिए ले गए, क्योंकि मेरे लिए अपने गांव से कोलकाता तक अकेले यात्रा करना संभव नहीं था. ईडन गार्डन्स में यह मेरा पहला मौका था और मैं ‘क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ वेस्ट बंगाल’ के मुख्य द्वार के सामने खड़ी थी और उन्होंने मुझे इशारा किया और कहा कि तुम एक बॉल गर्ल हो.

झूलन ने कहा था, ”यह मेरे जीवन का सबसे गौरवपूर्ण क्षण था. आप भी वही खेल खेलते हो जो लड़के खेलते हैं और जिस खेल में लड़कियों को बहुत सी आलोचनाओं और टिप्पणियों का सामना करना पड़ता है. ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की लड़कियों को फाइनल में खेलते हुए देखकर मैं काफी प्रेरित हुई और मैंने खुद से कहा कि अगर मैं इस खेल को खेलना शुरू करती हूं तो मुझे अपने देश के लिए खेलना होगा. यह वह समय था जब से मैंने खेल को गंभीरता से लेना शुरू किया और इसमें अपना करियर बनाने का फैसला किया.”

बायोपिक में अनुष्का शर्मा निभा रही झूलन का किरदार

झूलन पहली महिला क्रिकेट खिलाड़ी हैं, जिनके जीवन पर आधारित फिल्म बनाई जा रही है. इस फिल्म में बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा झूलन गोस्वामी का किरदार निभा रही हैं. बता दें कि गोस्वामी के अच्छे प्रदर्शन के बदौलत भारत ने आईसीसी महिला विश्व कप 2017 के फाइनल तक पहुंचा था. हालांकि, उसे इंग्लैंड से केवल 9 रनों से हार का सामना करना पड़ा था. इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मैच में भारत ने लिए झूलन ने 3 विकेट लिए थे.

झूलन गोस्वामी क्रिकेट करियर

झूलन गोस्वामी ने भारत के लिए 10 टेस्ट मैचों में 40 विकेट, 182 वनडे मैचों में 225 विकेट और 68 टी-20 मैचों में 56 विकेट लिए हैं. भारत के लिए टेस्ट मैच में झूलन का बेस्ट बॉलिंग फिगर 10/78 रहा है. 25 नवंबर 1982 को झूलन का जन्म कोलकाता में हुआ. उन्होंने अपना पहला वनडे मैच में इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में खेला था. झूलन गोस्वामी 2007 में आईसीसी क्रिकेटर ‘ऑफ द ईयर’ चुनी गई थीं. 2007 में आईसीसी वुमंस क्रिकेटर ऑफ द ईयर चुने जाने के बाद उन्हें टीम का कप्तान बना दिया गया. 2010 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार और 2012 में पद्मश्री से नवाजा गया था.

15 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू किया

झूलन ने 15 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू किया. वह सुबह 4.30 पर उठतीं और लोकल ट्रेन से प्रेक्टिस सेशन में पहुंचतीं. वह कोलकाता से 80 किलोमीटर दूर रहती थीं. कई बार ट्रेन मिस हो जाने के कारण वह प्रेक्टिस सेशन में नहीं पहुंच पाती थीं. लेकिन क्रिकेटर बनने का सपना उन्होंने कभी नहीं छोड़ा. कभी निराश नहीं हुईं. झूलन के माता-पिता चाहते थे कि वह क्रिकेट से ज्यादा पढ़ाई पर अपना ध्यान लगाएं.
Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here