Maharashtra: बलात्कार के आरोप के बाद धनंजय मुंडे ने कहा- एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मिलकर अपना पक्ष रखा है

0
56
.

मुंबई. अपने ऊपर लगे बलात्कार के आरोप के बाद भी महाराष्ट्र के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे (Minister Dhananjay Munde) ने अपने दैनिक कार्यक्रमों को बिल्कुल जस का तस रखा है। इस गंभीर आरोप के बाद बावजूद उन्होंने अलग-अलग बैठकों में शिरकत की। इसके अलावा उन्होंने हमेशा की तरह जनता दरबार भी लगाया। जिसमें जनता के प्रश्नों का समाधान करने की कोशिश की। हालांकि जनता दरबार में धनंजय मुंडे के चेहरे पर तनाव साफ दिखाई पड़ रहा था।

धनंजय मुंडे ने मंगलवार की सुबह उनके सरकारी निवास चित्रकूट पर सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों से मुलाकात की। इसके बाद दोपहर में उन्होंने जनता दरबार भी लगाया। जनता दरबार के दौरान धनंजय मुंडे के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ दिखाई पड़ रही थीं।

मैंने अपना पक्ष रखा है

धनंजय मुंडे ने कहा कि उन्होंने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मिलकर अपना पक्ष रखा है। अब पवार साहब इस विषय पर निर्णय लेंगे। जो भी फैसला उनका और पार्टी का होगा वह मुझे मंजूर होगा। अब सबकी निगाहें इस बात पर टिकी हुई है कि आखिर शरद पवार धनंजय मुंडे के मुद्दे पर क्या फैसला लेते हैं। हालांकि पवार ने खुद कहा है कि धनंजय मुंडे पर जो आरोप लगे हैं वह बेहद गंभीर हैं।

मुंडे ने इस्तीफे की पेशकश नहीं की है

मुंबई स्थित पार्टी कार्यालय में धनंजय मुंडे से एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद जयंत पाटिल ने मीडियाकर्मियों को बताया कि धनंजय मुंडे ने इस्तीफे की पेशकश नहीं की है और ना ही उस पर चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं मुंबई पुलिस इस गंभीर आरोप की जांच करें। हमारा पुलिस की जांच में किसी भी प्रकार का दबाव या हस्तक्षेप नहीं होगा। जांच में यह पता चलेगा कि महिला धनंजय मुंडे को ब्लैकमेल कर रही है या फिर उसने जो आरोप लगाए हैं वो सही हैं।

पूर्व विधायक ने कहा मैं भी इसी महिला का शिकार हुआ हूँ

बीजेपी नेता और पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े ने शिकायतकर्ता महिला पर आरोप लगाते हुए कहा है कि यह महिला इसी तरह से लोगों को फंसाती है। कुछ सालों पहले इस महिला ने मुझे भी हनी ट्रैप में फंसाने की कोशिश की थी लेकिन मैं बच गया। उन्होंने कहा कि मैं इस महिला के खिलाफ अंबोली पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज करवाउँगा। इस महिला ने मुझे इस साल जनवरी के महीने व्हाट्सएप पर मैसेज किये थे। जिसका मैंने कोई रिप्लाई नहीं दिया और कुछ दिन बाद मुझे धनंजय मुंडे के बारे में यह खबर सुनने को मिली।

Source link

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here