Ind vs Aus 4th Test: 33 सालों से हो रहा इंतजार, इस मैदान में कोई टीम नहीं हरा पाई कंगारुओं को, ग्राउंड रिपोर्ट देखकर उड़ जाएंगे होश

0
56
.

स्पोर्ट्स डेस्क। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम की असली अग्निपरीक्षा तो शुक्रवार से शुरु होगी। सीरीज का चौथा और आखिरी टेस्ट ब्रिसबेन के गाबा मैदान में खेला जाएगा। सिडनी में आयोजित तीसरा टेस्ट तो किसी तरह भारत ड्रा करा ले गया। मगर गाबा में क्या होगा, यह देखना दिलचस्प होगा। यह मैदान ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का गढ़ है। पिछले 33 सालों से ब्रिसबेन के इस मैदान में मेजबानों को टेस्ट में कोई नहीं हरा पाया। यहां ऑस्ट्रेलिया को आखिरी टेस्ट हार साल 1988 में मिली थी।

31 मैचों से नहीं मिली हार

1988 में मिली आखिरी हार के बाद ऑस्ट्रेलिया ने यहां कुल 31 टेस्ट खेले। इस दौरान पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, भारत, साउथ अफ्रीका, वेस्टइंडीज और श्रीलंका जैसी क्रिकेट जगत की सभी बड़े टीमें खेलने आईं। मगर कोई भी कंगारुओं के इस किले को भेद न सका। इस बार फिर से भारत की बारी है। सिडनी में चोटिल खिलाड़ियों के साथ टीम इंडिया ने जो जज्बा दिखाया, वैसा ही अगर इस बार गाबा में देखने को मिल जाए तो नया इतिहास बन सकता है।

वार्नर है यहां के किंग

गाबा में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज वैसे तो रिकी पोंटिंग है। उनके नाम 17 मैचों में 1335 रन दर्ज हैं। मगर मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम में अगर किसी बल्लेबाज ने गाबा में धमाकेदार बल्लेबाजी की है तो वो डेविड वार्नर हैं। वार्नर के नाम इस मैदान में 8 मैच खेलकर 817 रन दर्ज हैं और औसत 68.08 का है। इस दौरान वार्नर के बल्ले से 4 शतक और एक अर्धशतक निकला।

टीम इंडिया का गाबा में आज तक जीत का खाता नहीं खुला। साल 1947 से लेकर अब तक भारत ने इस मैदान में कुल 6 मैच खेले जिसमें पांच में उन्हें हार मिली और एक मैच ड्रा रहा। ये इकलौता ड्रा मुकाबला सौरव गांगुली की कप्तानी में 2003 में खेला गया था। उसके अलावा जो भी कप्तान यहां खेलने आया वह हारकर ही गया है।

6 साल बाद टीम इंडिया खेल रही मैच

डेटा के मुताबिक, टीम इंडिया करीब 6 साल बाद गाबा में टेस्ट खेलने जा रही। भारत ने यहां आखिरी टेस्ट मैच 2014 में खेला था। उस वक्त टीम की कमान एमएस धोनी के हाथों में थी। माही की अगुआई में भारत ने यह मुकाबला 4 विकेट से गंवा दिया था। इस टेस्ट में विराट कोहली पूरी तरह से फ्लाॅप रहे थे। उनके बल्ले से दोनों पारियों में कुल 20 रन निकले थे। भारत की तरफ से एकमात्र शतक मुरली विजय ने लगाया था।

Authors

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here