स्नैपडील से दिल्ली के पालिका बाजार तक: अमेरिका ने इन्हें ठहराया नकली सामानों का गढ़…

0
53
.

वाशिंगटन। अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि (USTR) कार्यालय ने नकली और पाइरेटेड सामानों के लिए बदनाम बाजारों की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में देश के सबसे बड़े ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स में से एक स्नैपडील (Snapdeal) के अलावा भारत के चार शॉपिंग कॉम्प्लेक्स को रखा गया है. 4 में से दो शॉपिंग कॉम्प्लेक्स अकेले दिल्ली में हैं. USTR ने नकली और पाइरेटेड सामानों के लिए कुख्यात बाजारों की 2020 की समीक्षा के बाद यह लिस्ट जारी की है.

इस लिस्ट में शामिल चार भारतीय बाजारों में मुंबई का हीरा पन्ना, कोलकाता का किडरपोर और दिल्ली में पालिका बाजार और टैंक रोड शामिल है. कुख्यात बाजारों की पिछली सूची में आइजोल का मिलेनियम सेंटर शामिल था, जिसकी जगह अब पालिका बाज़ार ने ले ली है.

अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ड लाइटहाजर ने कहा, “बौद्धिक संपदा अधिकारों का उल्लंघन करने वालों की जवाबदेही तय करना और भौतिक तथा ऑनलाइन बाजारों में अमेरिका के नवोन्मेषकों और सृजनकारों के लिए निष्पक्ष और उचित अवसर सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है.”

इस सूची में कुल 39 ऑनलाइन प्लेटफॉर्मों और 34 बाजारों को शामिल किया गया है, जो ट्रेडमार्क जालसाजी और कॉपीराइट प्राइरेसी से जुड़े हैं या उनमें इसकी पर्याप्त सुविधा है.

लाइटहाजर ने कहा, “नकली और पायरेटेड सामानों के आयात का आज के दौर में सबसे बड़ा जोखिम है. यह अमेरिकी निर्माताओं और अमेरिकी उपभोक्ताओं दोनों को नुकसान पहुंचा रहा है. इस जोखिम की वजह विदेशी नकली बाजार और डार्क वेबसाइट्स नहीं बल्कि ई-कॉमर्स कंपनियों की अपर्याप्त नीतियां और कार्रवाई है, जो अमेरिकी ग्राहकों को नकली उत्पाद बेचते हैं.”

अधिकारी ने कहा कि पाइरेसी और जालसाजी से मुकाबला करने के लिए संघीय एजेंसियों और कंपनियों दोनों कदम उठाना होगा.

रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिकी अधिकारियों द्वारा सीज किए गए नकली उत्पादों में सबसे ज्यादा चीन और हांगकांग में बने हैं, लेकिन यह वैश्विक समस्या है. चीन और हांगकांग के अलावा भारत, सिंगापुर, थाईलैंड, टर्की और संयक्त अरब अमीरात ऐसे उत्पादों का मुख्य ओर्जिन प्वाइंट हैं.

Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here