Maharashtra: संजय राउत सपरिवार शरद पवार से मिलने पहुंचे, कहा- ऐसे तो PM Modi को हर दिन इस्तीफा देना पड़ेगा

0
57
.

मुंबई. शिवसेना के सांसद और नेता संजय राउत ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा है कि किसी नेता पर आरोप लगने के बाद अगर उसे इस्तीफा देना पड़े तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हर दिन इस्तीफा देना पड़ेगा। राउत ने कहा कि दिल्ली में किसानों का आंदोलन शुरू है। ऐसे में हर रोज उनसे इस्तीफे की मांग की जा रही है।

महा विकास आघाडी सरकार केे मंत्रियों पर आरोप लगनेे की वजह से सरकार पर कोई खतरा नहीं है। शुक्रवार की सुबह एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मिलने अपनी पत्नी के साथ पहुंचे थे। बेटी की सगाई का निमंत्रण देने के लिए संजय राउत परिवार समेत शरद पवार के घर गए थे।

वर्षा राउत ने लौटाए पैसे

बीजेपी नेता किरीट सोमैया (BJP Leader Kirit Somaiya) के मुताबिक संजय राउत की पत्नी वर्षा (Varsha Raut returns Loan Amount to Madhuri Raut) राउत ने माधुरी राउत से लिए गए पैसों को वापस लौटा दिया है। सोमैया ने कहा कि भले ही पैसे वापस लौटा दिए हों। लेकिन उनका संजय राउत और प्रवीण राउत का संजय राउत और एचडीआईएल का क्या संबंध है? इस बारे में ईडी जरूर पूछताछ करेगी। आखिर पीएमसी बैंक घोटाला के पैसे संजय राउत की पत्नी के अकाउंट में कैसे आए यह सब जांच का विषय है।

वर्षा राउत से ईडी की पूछताछ

सोमवार तीन घंटे से ज्यादा चली पूछताछ के बाद संजय राउत (Shivsena leader Sanjay Raut) की पत्नी वर्षा राऊत ईडी दफ्तर से घर के लिए निकली थीं। सोमवार दोपहर तकरीबन 3:15 बजे वर्षा राउत ईडी कार्यालय पहुंची थीं। वर्षा राउत अपने साथ कुछ दस्तावेज भी लेकर आई थीं। कल के दौरान उन्होंने मीडिया के सवालों का कोई जवाब नहीं दिया वही संजय राऊत ने कहा है कि हमने समय-समय पर प्रवर्तन निदेशालय का सहयोग किया है और आगे भी करेंगे। उन्होंने कहा कि मुझे वर्षा के साथ जाने की जरूरत नहीं है, वह वर्षा संजय राउत हैं।

एक दिन पहले ईडी कार्यालय पहुंची वर्षा राउत

वर्षा राऊत अचानक सोमवार दोपहर ईडी दफ्तर पहुंची। हैरत की बात यह है कि वर्षा एक दिन पहले ही ईडी कार्यालय (Enforcement Directorate) पहुंच गई हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने वर्षा राउत को 5 जनवरी को ईडी कार्यालय पर बुलाया था। आपको बता दें कि वर्षा राउत से ईडी 55 लाख रुपए के उस ट्रांजैक्शन के बारे में पूछताछ करना चाहती है। जो माधुरी राउत के अकाउंट से वर्षा राउत के अकाउंट में भेजे गए थे। यह रुपए दो किस्तों में वर्षा राउत को मिले थे। आज हम आपको वर्षा राउत और पीएमसी बैंक घोटाले से जुड़ी हर एक जानकारी भी देंगे।

वर्षा राउत ने सोमवार को आने की इजाजत मांगी थी

जानकारी के मुताबिक वर्षा राऊत ईडी से सोमवार दोपहर 3 बजे आने की इजाजत मांगी थी। जिसे प्रवर्तन निदेशालय ने मंजूर कर लिया था। वर्षा राऊत अपने साथ कुछ दस्तावेज लेकर भी आई है। मीडिया के कैमरों से बचने के लिए वर्षा राउत सोमवार को ही ईडी दफ्तर पहुंच गईं।

प्रवीण राउत की 72 करोड़ रुपये की संपत्ति को कुर्क

आपको बता दें कि हाल में प्रवर्तन निदेशालय ने पीएमसी बैंक घोटाला (PMC BANK SCAM ) मामले में संजय राउत के करीबी माने जाने वाले प्रवीण राउत की तकरीबन 72 करोड़ रुपये की संपत्ति को कुर्क किया है। प्रवर्तन निदेशालय ने यह खुलासा भी किया है कि संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत, प्रवीण राउत की कंस्ट्रक्शन कंपनी ‘अवनी’ में भी पार्टनर हैं। इसके पहले ईडी ने वर्षा राउत को 29 दिसंबर को समन भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन वर्षा राउत ने अतिरिक्त समय की मांग करते हुए 5 जनवरी को पूछताछ के लिए आने की बात कही थी ।

फ्रेंडली लोन दिया था वर्षा राउत को

प्रवर्तन निदेशालय की जांच में यह भी पता चला है कि जो पैसे माधुरी राउत के अकाउंट से वर्षा राउत को दिए गए थे, वह फ्रेंडली लोन के तौर पर दिए गए थे। लेकिन खास बात यह है कि प्रवीण राउत ने अपनी पत्नी माधुरी राउत के अकाउंट में एक करोड़ 60 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे।

यहीं से इस अपराध की शुरुआत हुई थी। वर्षा राउत को यह पैसे दो किश्तों में मिले थे। पहली बार 50 लाख रुपये 23 दिसंबर 2010 को ट्रांसफर किए गए थे, जबकि पांच लाख रुपये 15 मार्च 2011 को भेजे गए थे। इन पैसों की मदद से दादर पूर्व में एक फ्लैट को खरीदा गया था।

95 करोड़ के घोटाले का आरोप

ईडी के मुताबिक प्रवीण राउत ने तकरीबन 95 करोड़ रुपये का घोटाला एचडीआईएल की मदद से किया है। प्रवीण ने गैर कानूनी तरीके से लोन के बहाने इन पैसों को साजिश के तहत गबन किया गया है। जिसमें कई लोग शामिल हैं।

Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here