SL vs ENG: जो रूट ने 13 महीने बाद जड़ा टेस्ट क्रिकेट में शतक, इंग्लैंड ने श्रीलंका पर बनाई 185 रनों की बढ़त…

0
56
.

स्पोर्ट्स डेस्क। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने 13 महीने बाद टेस्ट क्रिकेट में शतक जमाकर अपने लंबे इंतजार को खत्म किया. उनके अलावा डेब्यू बल्लेबाज डैन लॉरेन्स (Dan Lawrence) ने पहली पारी में ही प्रभाव छोड़ा जिससे इंग्लैंड ने श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन अपनी स्थिति मजबूत कर ली. बारिश के कारण टी के बाद का खेल नहीं हो पाया. इंग्लैंड ने चार विकेट पर 320 रन बनाकर पहली पारी में 185 रन की बढ़त हासिल कर ली है. श्रीलंका की टीम पहली पारी में 135 रन पर आउट हो गयी थी.

रूट ने 254 गेंदों का सामना करके नाबाद 168 रन बनाए हैं जबकि लॉरेन्स ने 150 गेंदों पर 73 रन की पारी खेली. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 173 रन की साझेदारी की. रूट ने इससे पहले जॉनी बेयरस्टो (47) के साथ तीसरे विकेट के लिए 114 रन जोड़े थे. लॉरेन्स को उनकी पारी के दौरान विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने दो जीवनदान दिए. ऑफ स्पिनर दिलरूवान परेरा ने दूसरे सेशन के अंतिम क्षणों में दूसरी नई गेंद से लॉरेन्स को फारवर्ड शॉर्ट लेग पर कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी.

जो रूट ने जड़ा 18वां शतक

इससे पहले इंग्लैंड ने सुबह दो विकेट पर 127 रन से आगे खेलना शुरू किया. बेयरस्टो अपने कल के स्कोर पर ही आउट हो गए. श्रीलंका के सबसे सफल गेंदबाज लेसिथ इमबुलदेनिया (131 रन देकर तीन विकेट) ने उन्हें गली में कुसल मेंडिस के हाथों कैच कराया. रूट ने सुबह 66 रन से पारी आगे बढ़ाई. उन्होंने लंच के बाद पहले ओवर में एक रन लेकर अपना 18वां टेस्ट शतक पूरा किया. यह श्रीलंका के खिलाफ उनका दूसरा शतक है. नवंबर 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में 226 रन बनाने के बाद इंग्लैंड के कप्तान का यह पहला शतक है. जब दिन का खेल समाप्त घोषित किया गया तब रूट के साथ जोस बटलर सात रन पर खेल रहे थे.

8000 रन पूरा करने से सिर्फ नौ कदम दूर रूट

अपना 98वां टेस्ट मैच खेल रहे जो रूट 8000 के क्लब में शामिल होने से सिर्फ नौ रन दूर हैं. वह यह मुकाम हासिल करने वाले इंग्लैंड के सातवें क्रिकेटर होंगे. उनसे ज्यादा रन इंग्लैंड के लिए एलिस्टर कुक (12472), एलेक स्टीवर्ट (8463), डेविड गॉवर (8231), केविन पीटरसन (8181) और ज्यॉफ्री बॉयकाट (8114) ने बनाए हैं.

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here