बिना क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) के भी मिल जाएगा क्रेडिट कार्ड (Credit Card), यहां जानें कैसे…

0
286
.

कारोबार डेस्क। भारतीय बाजार में क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की मांग बहुत तेजी से बढ़ रही है और इसलिए बैंकों ने ग्राहकों के लिए बहुत तरह के क्रेडिट कार्ड (Credit Card) लॉन्च किए हैं। बाज़ार में इतने अधिक विकल्प होने के कारण अपनी आवश्यकता के हिसाब से सही क्रेडिट कार्ड (Credit Card) को चुनना मुश्किल होता है। वहीं कई बैंक ऐसे लोगों को भी लोन देते हैं जिनके पास क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) नहीं है। क्रेडिट कार्ड (Credit Card) कंपनियां भी ऐसा करती हैं।

क्रेडिट ब्यूरो (Credit Bureau) ऐसे आवेदकों का मूल्यांकन करने के लिए बैंकों को टूल्स मुहैया कराते हैं। हालांकि, सभी बैंक क्रेडिट ब्यूरो (Credit Bureau) की ऐसी विश्लेषणात्मक सेवाओं का उपयोग नहीं करते हैं। क्रेडिट ब्यूरो (Credit Bureau) बिना क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) वाले व्यक्तियों के डेटा का उपयोग करता है और उनकी तुलना अन्य लोगों के साथ करता है जिनके पास समान प्रोफ़ाइल है। तुलना के आधार पर वे आवेदक को बिना किसी क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) के स्कोर देते हैं। वे उम्र, स्थान, नौकरी प्रोफ़ाइल, उद्योग, अनुभव के वर्षों और पदनाम का उपयोग करते हैं।

क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) कैसे बनाएं, आप भी जानें

सबसे आसान तरीका है ऑनलाइन एग्रीगेटर्स पर लॉग इन करना। कई वित्तीय संस्थान कार्ड और कर्ज की पेशकश करते हैं। आपकी प्रोफ़ाइल के आधार पर ये एग्रीगेटर आपके डिटेल को बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) को भेजेंगे। यदि संस्थान रुचि रखेंगे, तो वे आपको कॉल करेंगे। बिना क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) वाले व्यक्ति अपने माता-पिता या करीबी रिश्तेदारों के साथ ऐड-ऑन कार्ड ले सकते हैं। ऐड-ऑन कार्ड आपके वित्तीय लेनदेन को कैप्चर करेगा और आपको क्रेडिट प्रोफ़ाइल बनाने में मदद करेगा।

आप Fixed Deposit (FD) के बदले भी क्रेडिट कार्ड (Credit Card) ले सकते हैं। यदि आप बैंक में 20,000 या उससे अधिक की FD खोलते हैं, तो यह आपको FD से जुड़ा क्रेडिट कार्ड (Credit Card) दे सकता है। इसकी सीमा आपके पास जमा राशि के करीब होगी। बैंक को Fixed Deposit (FD) के आधार पर क्रेडिट कार्ड (Credit Card) जारी करने में आसानी है, क्योंकि वे व्यक्ति की चूक होने पर FD पर ग्रहणाधिकार लगा सकते हैं।

कहा जाता है कि अगर एक व्यक्ति 20,000 रुपये से बैंक FD खोलता है तो आम तौर पर बैंक क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर 90% की क्रेडिट सीमा देगा। इसका अर्थ है कि जमाकर्ता को ₹ 18,000 की क्रेडिट सीमा के साथ एक कार्ड मिलेगा। ऐसे मामलों में बैंक को आपको किसी भी पूर्व क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) की आवश्यकता नहीं है। एक बार जब कोई व्यक्ति ऐसे कार्ड का उपयोग करना शुरू कर देता है और समय पर चुकाने लगता है, तो वह समय के साथ एक क्रेडिट हिस्ट्री (Credit History) का निर्माण शुरू कर देगा। क्रेडिट स्कोर असाइन करते समय अधिकांश क्रेडिट ब्यूरो (Credit Bureau) एक या दो साल के हिस्ट्री को ध्यान में रखते हैं।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here