Maharashtra: देवेंद्र फडणवीस ने किसान आंदोलन पर निशाना साधा, कहा- कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग का कानून अघाड़ी सरकार ही लेकर आई थी…

0
75
.

मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा नेता प्रतिपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई के आज़ाद मैदान में चल रहे किसानों के आंदोलन पर कहा है, ‘अब तक महाराष्ट्र में कोई भी किसान आंदोलन नहीं हुआ है। कुछ पार्टियां किसानों को गुमराह कर रही हैं। उनको किसानों का कोई भी समर्थन हासिल नहीं है। कांग्रेस और एनसीपी की सरकार ने साल 2006 में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग का कानून लाया था। राज्य में आज भी यह कानून चलता है लेकिन केंद्र में नहीं। कांग्रेस एनसीपी की दोगली नीति है। इसका सीधा नुकसान जनता को हो रहा है’।

मुंबई में किसान आंदोलन

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) को समर्थन देने के लिए और केंद्र सरकार का विरोध जताने के लिए महाराष्ट्र में भी किसान मुंबई के आजाद मैदान में इकट्ठा हुए हैं। राज्य के कोने-कोने से किसानों का जत्था मुंबई के आजाद मैदान (Mumbai Azad Maidan) पहुंचा है। रविवार की शाम हज़ारों की तादात में किसान यहां पहुंच चुके हैं। जबकि अभी भी किसानों के आने का सिलसिला शुरू है। कड़कड़ाती ठंड में तंबू के नीचे बैठे किसानों का हौसला बढ़ाने के लिए महिला और पुरुष किसानों ने पारंपरिक नृत्य भी किया।

अलाव से सर्दी भगाते किसान

महाराष्ट्र (Maharashtra Farmers) के दूर-दराज इलाकों से मुंबई में आए किसानों ने रात में जब ठंड पड़ी तो अलाव जलाकर ठंड को दूर भगाने का प्रयास किया। वहीं कई किसान तंबू में सोते हुए भी नजर आए। आज इस किसान आंदोलन में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, शरद पवार समेत कांग्रेस के नेता भी शामिल होंगे। अपनी ताकत दिखाने के लिए किसानों ने नासिक के पास पैदल मार्च भी किया।

सात किमी लंबे मार्च में कई महिला किसान भी

मुंबई के लिए कूच करने वाले किसानों ने रात्रि विश्राम के लिए इगतपुरी के पास घाटनदेवी में पड़ाव डाला था। रविवार सुबह किसान कसारा घाट के रास्ते मुंबई के लिए रवाना हुए। कसारा घट तक निकाले गए सात किलोमीटर लंबे मार्च में कई महिला किसान भी शामिल हुईं। यह मार्च सुबह नौ बजे शुरू हुआ और समापन 11:30 बजे हुआ। बाद में किसान वाहनों के जरिये आगे की यात्रा पर निकल गए। कसारा घाट मार्च का नेतृत्व एआईकेएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक धावले और राज्य इकाई के प्रमुख किसन गुज्जर एवं महासचिव अजित नवाले ने किया। भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र (सीटू) से जुड़े इगतपुरी और शाहपुर तहसील के फैक्टरी कामगारों ने इन किसानों पर पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया।

शरद पवार, आदित्‍य ठाकरे रैली को करेंगे संबोधित

गौरतलब है कि किसान समर्थक संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने 23 जनवरी से 26 जनवरी तक राज्यों में राजभवन के समक्ष सहित पूरे देश में विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया है। इसी के तहत महाराष्ट्र के करीब 100 संगठनों ने 12 जनवरी को मुंबई में हुई बैठक में संयुक्त शेतकारी कामगार मोर्चा का गठन किया। बयान के मुताबिक, 25 जनवरी को पूर्वाह्न 11 बजे आजाद मैदान में रैली शुरू होगी और शरद पवार के अलावा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट, पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे भी रैली को संबोधित करेंगे। इसके बाद प्रदर्शनकारी राजभवन की ओर मार्च करेंगे और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को ज्ञापन सौपेंगे।

Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here