पूर्व वेस्टइंडीज के पेसर ने बताई शुभमन गिल की बल्लेबाजी की तकनीकी खामी, बोले- वह भी इसे जानते हैं…

0
62
.

स्पोर्ट्स डेस्क। बाएं हाथ के ओपनिंग बल्लेबाज शुभमन गिल (Shubman Gill) ने क्रिकेट पंडितों, दिग्गजों के साथ-साथ फैन्स को भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) अपनी शानदार परफॉर्मेंस से प्रभावित किया है. शुभमन गिल को पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की लगातार खराब परफॉर्मेंस के बाद उनकी जगह टीम में शामिल किया गया था. गिल ने तीन टेस्ट मैचों में 2 अर्द्धशतक लगाए और सीरीज में 259 रन बनाए. चौथे टेस्ट के अंतिम दिन ब्रिस्बेन में खेली 91 रन की पारी को बेशक ऋषभ पंत की जीत दिलाने वाली पारी ने ओवरशेडो कर दिया हो, लेकिन गिल की पारी के बिना यह जीत नहीं मिल सकती थी. वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर इयान बिशप (Ian Bishop) ने हालांकि बताया है कि बल्लेबाजी के दौरान शुभमन कौन सी तकनीकी कमी करते हैं.

शुभमन गिल ने भारतीय पारी की मजबूत बुनियाद रखी. स्पोर्ट स्टार से बातचीत में वेस्टइंडीज के लीजेंड इयान बिशप ने शुभमन गिल की जमकर तारीफ की, लेकिन इसके साथ ही उनकी तकनीकी खामी भी बताई. उन्होंने कहा, ”ऑस्ट्रेलिया में जहां पिचें बाउंसर होती हैं, गिल की फॉरवर्ड और पीछे खेलने की क्षमताओं ने यह साबित कर दिया कि वह नई पीढ़ी के शानदार बल्लेबाज हैं.

इयान बिशप ने आगे कहा, ”हम जानते हैं कि हमेशा ऐसा नहीं होता. लेकिन उनकी आई कैचिंग, लंबी और एलिगेंट पारी स्ट्रोक्स से भरी थी. वह बड़ी सहजता से अपने शॉट्स खेल रहे थे. वह धीमी या तेज गेंदों को सम्मान दे रहे थे. इससे पता चलता है कि उनमें कितनी क्रिकेटिंग समझ है. ऐसा नहीं है कि वह केवल इसी तरह से खेल सकते हैं. उनकी बल्लेबाजी में लचीलापन है. सबसे अच्छी बात है कि वह लगातार बेहतर हो रहे हैं.”पूर्व वेस्टइंडीज के पेसर ने कहा कि शुभमन गिल हर परिस्थिति में रन बना सकते हैं, उनके पास मजबूत तकनीक है, लेकिन उनकी तकनीक में एक दिक्कत है, जिसको लेकर मैं थोड़ा चिंतित हूं. वह बहुत कम लेग स्टंप पर या लेग साइड की गेंद पर खेलते हैं. इससे तेज गेंदबाज उस एरिया में गेंद करके उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेने को टारगेट बना सकते हैं.

इयान बिशप ने आगे कहा, ”वह लगभग वीरेंद्र सहवाग की तरह खेलते हैं. वह कोई बुरे खिलाड़ी नहीं थे. ब्रिस्बेन में अपनी फाइनल पारी में वह अपने स्टंप्स के अक्रॉस खेले, लेकिन उन्होंने अपने हाथ और बल्ले को शरीर से दूर नहीं किया. यह बात उनका नियंत्रण दिखाती है. वह बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं, वह हर परिस्थिति में बड़ा स्कोर बना सकते हैं. मुझे लगता है कि उन्हें खुद को यह बात पता है. अगर वह इस कमी को सुधार लेते हैं तो वह किसी भी कंडीशन में रन बना सकते हैं.

Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here