कप्तान विराट कोहली के आक्रामक रूख से खिलाड़ियों को मिलती है एनर्जी- भारतीय गेंदबाज कोच भरत अरुण

0
47
.

स्पोर्ट्स डेस्क। ऑस्ट्रेलिया दौरे (Australia Tour) पर टेस्ट सीरीज के 3 मैचों में भारतीय टीम (Indian Team) की कमान संभालने वाले अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की कप्तानी की हर कोई तारीफ कर रहा है. इसके बाद से ही क्रिकेट जगत में शांत दिमाग रहाणे और मैदान पर आक्रामकता जाहिर करने वाले विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी की तुलना होने लगी है.

इसी मामले पर टीम इंडिया (Team India) के गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) ने एक अहम बात कही है. अरुण ने कहा है कि रहाणे किसी भी स्थिति में मैदान पर शांत रहते हैं और गलती होने पर भी कोई नाराजगी जाहिर नहीं करते हैं. वहीं अरुण ने विराट कोहली के आक्रामक रुख को उनकी ऊर्जा बताया और कहा कि इसे गुस्सा समझने की गलती की जाती है.

गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) ने रविचंद्रन अश्विन के यूट्यूब चैनल से कहा, ‘‘जब अजिंक्य की बात आती है तो वह बेहद शांतचित इंसान हैं. रहाणे बाहर से बेहद नरम दिख सकते हैं लेकिन अंदर से वह बेहद मजबूत हैं. ’’उन्होंने कहा, ‘‘वह अपने खिलाड़ियों का समर्थन करते हैं और शांत दिखते हैं. अगर गेंदबाज गलती भी करता है तो वे कप्तान से नहीं डरते. वह जानते हैं कि कप्तान उसका समर्थन करेगा. ’’ अरुण ने कहा कि जहां तक विराट कोहली की बात है तो यदि आप खराब गेंद करते हैं तो ऐसा लग सकता है कि वह गुस्सा हो जाएगा लेकिन यह उनके अंदर की ऊर्जा होती है.

सीरीज में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले मोहम्मद सिराज के बारे में अरुण ने कहा, “वह स्पेशल टैलेंट है. शुरुआती दिनों में वह हैदराबाद के लिए नेट बॉलर था. सिराज के पास भूख और गुस्सा दोनों हैं. मैंने उसे आरसीबी में नेट बॉलर के रूप में देखा. वह हैदराबाद में संभावित खिलाड़ियों में भी नहीं था. उसके पास नेट्स में गति और आक्रामकता थी. वह ठीक वैसा ही करेगा जैसा हम उससे करवाना करना चाहते हैं. अगर उसने ऐसा नहीं किया आप उस पर चिल्ला सकते हैं और वह सिर्फ मुस्कुराएगा. उनकी सबसे बड़ी ताकत खुद में उनका आत्मविश्वास है.” सिराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू सीरीज में तीन टेस्ट मैचों में 13 विकेट लिए थे.

Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here