Ghazipur Border Case: जबरन धरना खत्म करवाने की यूपी पुलिस की रणनीति ने किसानों को किया आक्रोशित…

0
110
.

लखनऊ। दिल्ली में किसानों का आंदोलन अब नाजुक मोड़ पर पहुंच गया है. कुछ किसान संगठनों ने अपने आपको इस आंदोलन से अलग भी कर लिया है. 26 जनवरी 2021 को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद किसान नेताओं के सुर भी बदले गए हैं. लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) आंदोलन खत्म करने के लिए तैयार नहीं हैं.

इसी बीच गाजीपुर बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों को जबरन उठाने की यूपी पुलिस की रणनीति ने हरियाणा के किसानों को आक्रोशित कर दिया है। कई गांवों में देर रात तक बैठकें जारी हैं। किसानों की योजना है कि बड़ी संख्या में दिल्ली सीमा की तरफ कूच करके सरकार को बता दें कि आंदोलन अभी खत्म नहीं हुआ है।

उधर, जींद जिले के कंडेला गांव के पास जींद-चंडीगढ़ नेशनल हाइवे को ग्रामीणों ने ब्लॉक कर दिया। गांव के लोगों ने इस मार्ग को पूरी तरह से अवरुद्ध कर दिया है। बताया जाता है कि किसान आंदोलन पर सरकार के रवैये को देखते हुए शुक्रवार को खाप पंचायतों की बैठक बुलाई गई है। इसमें सिलसिलेवार मंथन होगा कि आंदोलन कर रहे किसानों की किस तरह से मदद की जाए। ग्रामीण सरकार के कदम से बेहद आहत दिख रहे हैं।

गौरतलब है कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद गुरुवार को गाजीपुर पर बिजली-पानी की सप्लाई काट दी गई। यहां यूपी की पुलिस भी मौजूद रही। गाजीपुर प्रशासन ने प्रदर्शनकारियों को बॉर्डर से हटने को कहा है। उसके बाद किसानों ने खुद टेंट खाली कर दिए। यहां सड़कें अब सुनसान नजर आ रही हैं। यूपी पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर को दोनों तरफ से बंद कर दिया है।

सिंघु पर दिल्ली पुलिस ने भारी तादाद में अपने जवान तैनात किए हैं। सिंघु से लोगों को पैदल भी दिल्ली की तरफ नहीं जाने दिया जा रहा है। यहां दिल्ली पुलिस ने हरियाणा को जोड़ने वाली सड़क जेसीबी से खोद दी है। सिंघु पर जहां गणतंत्र दिवस पर किसानों की तादाद 80 हजार तक पहुंच गई थी।

उधर, संयुक्त किसान मोर्चा ने सिंघु पर रैली निकाली ताकि आंदोलनकारियों का उत्साह बना रहे। रैली के दौरान हरियाणा और पंजाब के किसानों के आपसी मतभेद भी दूर करने की कोशिश की गई। इस रैली में किसान नेता गुरनाम चढूनी और दर्शनपाल भी मौजूद थे। टीकरी बॉर्डर पर भी किसानों ने तिरंगा रैली निकाली।
Source link

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here