UP Vidhan Parishad: कुंवर मानवेंद्र बनें विधान परिषद के प्रोटेम स्पीकर, तो सपा ने लगाया ये गंभीर आरोप…

0
84
.

लखनऊ. भाजपा एमएलसी कुंवर मानवेंद्र सिंह (Kunwar Manvendra Singh) के विधान परिषद के कार्यवाहक अध्यक्ष का पद संभालते ही सपा ने कहा कि भाजपा ने प्रोटेम स्पीकर इसलिए नियुक्त करवा लिया क्योंकि यह चुनाव नहीं कराना चाहते हैं।

सपा प्रवक्ता सुनील साजन ने आरोप लगाया कि नियमों को ताक में रखकर भाजपा ने अपना प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करवा लिया। इससे साफ होता है कि भाजपा चुनाव नहीं कराना चाहती है, क्योंकि विधान परिषद में सपा के पास का बहुमत है। सपा प्रवक्ता तथा विधान परिषद सदस्य साजन ने तो राजभवन को ही बेईमान बता दिया।

उन्होंने कहा कि अगर संवैधानिक पद पर बैठे लोग ही संसदीय परंपराओं की धज्जियां उड़ाएंगे तो फिर बचेगा क्या। सपा ने विधान परिषद के सभापति पद के लिए चुनाव की मांग की थी। सपा के रमेश यादव का कार्यकाल समाप्त होने के बाद पार्टी अपना ही सभापति चाहती है। इसकी मांग को लेकर शनिवार को सपा का प्रतिनिधिमंडल राजभवन गया था, लेकिन उसकी राज्यपाल से भेंट नहीं हो सकी। उत्तर प्रदेश में विधान परिषद में सपा का बहुमत है। सौ सदस्यों में सपा के 51 सदस्य हैं जबकि भाजपा के 32 सदस्य हैं।

बता दें, रविवार को गवर्नर आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) ने कुंवर मानवेंद्र सिंह (Kunwar Manvendra Singh) को रविवार को राजभवन में विधान परिषद के लिए कार्यकारी सभापति की शपथ दिलाई। इस अवसर पर राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव महेश कुमार गुप्ता सहित राजभवन में तैनात अन्य अधिकारी मौजूद थे। परिषद के मौजूदा सभापति रमेश यादव का कार्यकाल शनिवार को समाप्त हो गया। उनके स्थान पर सभापति की नियुक्ति न होने पर सपा ने राजभवन का दरवाजा खटखटाया था।

प्रोटेम स्पीकर का काम

आमतौर पर प्रोटेम स्पीकर का काम नए सदस्यों को शपथ दिलाना और स्पीकर (विधानसभा अध्यक्ष ) का चुनाव कराना होता हैं। जब प्रोटेम स्पीकर के जरिए फ्लोर टेस्ट कराने की बात कही गई है तो उसका रोल काफी महत्वपूर्ण हो जाता हैं। आमतौर पर सबसे वरिष्ठ या सर्वाधिक बार चुनाव जीतने वाले को प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है। राज्यपाल इसे माने यह जरूरी नहीं है।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here