Budget 2021 Highlights: बजट में रेल को म‍िला आवास मंत्रालय से दोगुना पैसा, स्‍वास्‍थ्‍य, श‍िक्षा से भी ज्‍यादा…

0
279
.

नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बार रेलवे को खासी तरजीह दी। यहां तक कि रेलवे का बजट स्वास्थ्य और शिक्षा से भी ज्यादा रखा गया है। रेलवे को 1 लाख 10055 करोड़ रुपए आवंटित किए गए जबकि हेल्थ को 73 हजार 932 करोड़ तो शिक्षा को 93 हजार 224 करोड़ रुपए मिले। रेलवे से ज्यादा पैसा किसी को मिला तो वह परिवहन व कृषि मंत्रालय रहे। परिवहन को 1 लाख 18 हजार करोड़ तो कृषि को 1 लाख 31 हजार करोड़ रुपए मिले।

बीते वित्तीय वर्ष के दौरान रेल पर कोरोना का कहर सबसे ज्यादा रहा। हालांकि, बजट से पहले रेल मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2021 के लिए वित्त मंत्रालय के सामने करीब 1.80 लाख करोड़ के बजट की रूपरेखा रखी थी। तब वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने कोरोना का हवाला देते हुए इसे पूरा कर पाने में असमर्थता जताई थी। लेकिन फिर भी इस बार के बजट में रेलवे को काफी तरजीह दी गई है। आवास योजना को जहां 54 हजार करोड़ रुपए दिए गए, वहीं रेलवे को इससे दोगुना पैसा मिला।

भारतीय रेलवेज एशिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क के रूप में जाना जाता है। यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा नेटवर्क है। रेलवे के लिए देश में 115,000 किमी के ट्रैक बनाए जा चुके हैं। भारत में रेल ट्रैक की कुल लंबाई 64 हजार किलोमीटर से ज्यादा है। खास बात है कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को दुनिया के सबसे बड़े रूट रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम के लिए गिनीज बुक्स में जगह मिल चुकी है। जुलाई 1986 में रेलवे के कम्प्यूटरीकरण की शुरुआत की गई थी।

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने बजट से जुड़ी कई परंपराओं में अहम बदलाव किए हैं। पहले रेल बजट अलग से और आम बजट से पहले आता था, लेकिन साल 2017 में मोदी सरकार ने बजट पेश करने की तारीख में अहम बदलाव करते हुए उसे 1 फरवरी को कर दिया था। उससे पहले आम बजट फरवरी के आखिरी कार्यदिवस (28 या 29 फरवरी) को पेश किया जाता था।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here