गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण हेतु भूमि अधिग्रहण के कार्य में तेजी लाई जाये- मुख्य सचिव राजेन्द्र तिवारी

0
78
.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित प्रोजेक्ट मानिटरिंग ग्रुप की बैठक में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेस-वे, गंगा एक्सप्रेस-वे तथा डिफेन्स कारीडोर की प्रगति की गहन समीक्षा की गयी।

अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए सभी एक्सप्रेस-वे के निर्माण में तीव्रता लाई जाये। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेसवेज का निर्माण निर्धारित टाइमलाइन के अनुसार पूरा किया जाये तथा प्रत्येक कार्य के लिए अलग-अलग समयसारिणी निर्धारित की जाये।

उन्होंने बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिज-वे का निर्माण माह नवम्बर, 2021 तक पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा। उन्होंने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण की प्रगति भी बढ़ाने के निर्देश दिये। गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण हेतु भूमि अधिग्रहण की प्रगति की समीक्षा में उन्होंने अधिग्रहण/भूमि क्रय की प्रगति को बढ़ाने तथा इसके लिए जरूरी स्टाफ की व्यवस्था भी कराने के निर्देश दिये। डिफेन्स कारीडोर की समीक्षा में उन्होंने इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए भी टाइम लाइन निर्धारित करने को कहा।

इससे पूर्व अपर मुख्य सचिव गृह एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का अब तक लगभग 40 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है तथा एक्सप्रेस-वे का निर्माण तीव्र गति से हो रहा है। उन्होंने बताया कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिज-वे का निर्माण कार्य प्रत्येक दशा में माह फरवरी, 2022 तक तथा सम्पूर्ण प्रोेजेक्ट 30 सितम्बर, 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण की प्रगति समीक्षा में उन्होंने बताया कि लगभग 80 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है, तथा शेष कार्य को बड़ी तेजी के साथ किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का मुख्य कैरिज-वे 31 मार्च, 2021 तक पूरा हो जायेगा। सभी स्ट्रक्चर्स, आर.ओ.बी., फ्लाईओवर्स, दीर्घ सेतु, लघु सेतु आदि के कार्य तेजी से चल रहे हैं।
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे की समीक्षा में उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे का कार्य तीव्र गति से चल रहा है तथा मुख्य कैरिज-वे का निर्माण माह मार्च, 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा।

गंगा एक्सप्रेस-वे के सम्बन्ध में उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे के निर्माण हेतु भूमि क्रय करने की कार्यवाही चल रही है तथा माह फरवरी, 2021 तक 25 प्रतिशत भूमि की व्यवस्था हो जायेगी। उन्होंने कार्य निष्पादन में स्टाफ की कमी की ओर मुख्य सचिव का ध्यान आकृष्ट किया।

डिफेन्स कारीडोर की प्रगति समीक्षा में उन्होंने बताया कि बंगलुरू में चल रहे एयरो इण्डिया-2021 में 4501 करोड़ रुपये निवेश के एमओयू साइन हो रहे हैं, जिससे करीब 9 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव कार्यक्रम क्रियान्वयन कुमार कमलेश, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविन्द कुमार, सचिव वित्त संजय कुमार सहित यूपीडा के सभी सम्बन्धित अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here