बड़ी खबर- अखिलेश यादव ने किया एक ऐसा ट्वीट मच जाएगा हडकंप, यूपी सरकार की बढ़ेंगी मुश्किलें….

0
491
.

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक तस्वीर ट्वीट करते हुए प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश यादव ने लिखा, ‘प्रयागराज में बीजेपी सरकार ने निषाद समाज की नावें तोड़कर उनके पेट पर लात मारी है। बीजेपी सरकार तत्काल निषाद समाज से माफी मांगे और रोजगार के लिए नयी नावें दे। उप्र सरकार ने डायल 100 जैसी सुविधाएं निष्क्रिय कर दी हैं व ठोको नीति के तहत अब ग़रीबों तक को निशाना बनाया जा रहा है।

दरअसल, प्रयागराज जिले में गुरुवार को पुलिस व प्रशासन पर निषाद समाज के लोगों ने नावों को क्षतिग्रस्त करने और पिटाई करने का आरोप लगाया। इतना ही नहीं, गुस्साए लोगों ने ईट पत्थर, लाठी डंडा लेकर निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद और उनके समर्थकों तथा बीजेपी नेता पीयूष रंजन निषाद को भी बसवार गांव से खदेड़ दिया।

यूपी से बहुत बड़ी खबर- शिवपाल यादव ने कर दिया ऐलान, BJP को हराने के लिए भतीजे अखिलेश यादव…

जानकारी के मुताबिक, नैनी कोतवाली के मोहब्बतगंज, ठकुरी का पुरवा और घूरपुर थाना क्षेत्र के बसवार गांव में गुरुवार (04 फरवरी) को एडीएम प्रशासन विजय शंकर द्विवेदी की अगुवाई में पहुंची पुलिस टीम ने यमुना घाटों पर डंप की गई हजारों टन बालू जेसीबी मशीन से नदी में फेंकवा दी थी। इस दौरान तोड़फोड़ कर कई नावो को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। आरोप है कि जब गांव के लोग रोकने गए तो उनकी पिटाई की गई। इसे लेकर क्षेत्र के मजदूरों में भारी गुस्सा है।
संजय निषाद और बीजेपी नेताओं को दौड़ाया

अन्नदाता किसानों को आतंकी कहना पाप है, भाजपा देश के किसानों से मांगे माफी…

पुलिस द्वारा ग्रामीणों पर की गई सख्ती के विरोध में शुक्रवार को निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर संजय निषाद और उनके समर्थकों तथा बीजेपी नेता पीयूष रंजन निषाद बसवार गांव पहुंचे। नेताओं को गांव में देखकर ग्रामीणों आक्रोशित हो गए और उनके साथ धक्का-मुक्की की। इतना ही नहीं, आक्रोशित ग्रामीणों ने हाथों में ईट पत्थर, लाठी डंडा लेकर निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद और उनके समर्थकों को दौड़ा लिया। इस दौरान मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने संजय निषाद को सुरक्षित बाहर निकाला।

 कृषि कानून वापस लेकर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाए सरकार…

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here