लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में कल से कैरम प्रतियोगिता, 144 खिलाड़ी भाग लेंगे…

0
83
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल द्वारा 9 से 13 फरवरी, 2021 तक केडी सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ में 25वीं अखिल भारतीय डाक कैरम प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इस प्रतियोगिता में पूरे देश से 17 डाक परिमण्डलों के 144 कैरम खिलाडी भाग लेंगे, जिनके बीच टीम और वैयक्तिक स्तर पर कुल 425 मैच खेले जायेंगे। इनमें मेजबान उत्तर प्रदेश के अलावा तमिलनाडु, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, छतीसगढ़, असम, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, कर्नाटक, हरियाणा, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, बिहार, झारखंड, पंजाब, तेलंगाना और ओडिशा परिमंडल की टीमें शामिल हैं।

ये जानकारी उत्तर प्रदेश परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने इस संबंध में मंथन हॉल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए दी। कांफ्रेंस के आरंभ में पोस्टमास्टर जनरल, वाराणसी परिक्षेत्र कृष्ण कुमार यादव ने श्री सिन्हा का पौधा भेंटकर स्वागत किया और प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियों का भी स्वागत किया।

चीफ पोस्टमास्टर जनरल कौशलेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि विगत वर्ष अखिल भारतीय डाक कैरम प्रतियोगिता का आयोजन उत्तराखंड परिमण्डल द्वारा किया गया था, जिसमें तमिलनाडु टीम विजेता और उत्तर प्रदेश टीम उप-विजेता रही थी।

प्रतियोगिता का उद्घाटन 9 फरवरी को प्रातः 10:30 बजे केडी सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ में चीफ पोस्टमास्टर जनरल, उ.प्र. परिमंडल श्री कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा द्वारा श्री आर.पी सिंह, पूर्व सदस्य, भारतीय क्रिकेट टीम के विशिष्ट आतिथ्य में होगा। 13 फरवरी को शाम 3 बजे समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता के लिए हरियाणा परिमण्डल के श्री संजय कपूर को केन्द्रीय पर्यवेक्षक तथा आंध्र प्रदेश के श्री श्रीपति कामले को तकनीकी प्रतिनिधि नामित किया गया है।

श्री सिन्हा ने कहा कि, कोविड-19 के मद्देनजर विभिन्न परिमण्डलों से आने वाली टीमों, कोच मैनेजर एवं टूर्नामेन्ट से जुडे अन्य लोगों के लिए लखनऊ में समुचित व्यवस्था की जा रही है। टूर्नामेंट के कुशल प्रबंधन हेतु सभी पोस्टमास्टर जनरल और महाप्रबंधक (वित्त) की अध्यक्षता में कुल 8 कमेटियां बनाई गई हैं। इस बीच खिलाड़ियों के स्वास्थ्य के प्रति सजगता बरतते हुए एक मेडिकल टीम 24 घण्टे तैनात रहेगी और एक आइसोलेशन कक्ष भी बनाया गया है। उ.प्र. की संस्कृति से खिलाडियों और टीम सदस्यों को रूबरू करने के लिए 12 फरवरी की शाम एक सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया जायेगा। श्री सिन्हा ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों से अपेक्षा की कि कोविड-19 प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए वे इस प्रतियोगिता को यादगार बनायें तथा अनुशासन व उत्तम खेल भावना का परिचय देते हुए उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल का नाम रोशन करें।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here