Shabnam Hanging Case: शबनम को दी गई फांसी तो देश में आ जाएगी प्रलय- महंत

0
268
Shabnam Hanging Case
.

अयोध्या. Shabnam Hanging Case Updates: अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास (Mahant Paramhans Das) ने प्रेमी के सात मिलकर अपने ही घर के 7 लोगों को मौत के घाट उतारने वाली हत्यारिन शबनम के फांसी की सजा को माफ करने की मांग की है। तपस्वी छावनी के महंत ने राष्ट्रपति से अपील करते हुए कहा कि देश की आजादी के बाद आज तक किसी महिला को फांसी नहीं दी गई। यदि शबनम को फांसी दी जाती है तो यह पहला मामला होगा। उन्‍होंने कहा कि एक महिला को फांसी दिए जाने से देश को दुर्भाग्‍य और आपदाओं यानि प्रलय का सामना करना पड़ सकता है।

महंत परमहंस दास (Mahant Paramhans Das) ने कहा कि ‘हिंदू शास्‍त्रों में नारी का स्‍थान पुरुष से बहुत ऊपर है। एक नारी को मृत्‍युदंड दिए जाने से समाज का कोई भला नहीं होगा। उल्‍टे इससे दुर्भाग्‍य और आपदाओं को न्‍यौता मिलेगा।’ महंत ने कहा कि यह सही है कि उसका अपराध माफ किए जाने योग्‍य नहीं है लेकिन उसे महिला होने के नाते माफ किया जाना चाहिए।

राष्‍ट्रपति से की अपील

महंत ने कहा कि ‘हिंदू धर्मगुरु होने के नाते मैं राष्‍ट्रपति से अपील करता हूं कि माफी के लिए शबनम की याचिका को स्‍वीकार कर लें। अपने अपराध के लिए वह जेल में प्रायश्चित कर चुकी है। यदि उसे फांसी दी गई तो यह इतिहास का सबसे दुर्भाग्‍यपूर्ण अध्‍याय होगा। महंत ने कहा कि देश का संविधान राष्‍ट्रपति को असाधारण शक्तियां देता है। उन्‍हें इन शक्तियों का इस्‍तेमाल क्षमा देने में करना चाहिए।’

गौरतलब है कि, उत्‍तर प्रदेश के अमरोहा के बाबनखेड़ी गांव की शबनम ने अपने प्रेमी से शादी करने के लिए अपने ही परिवार के सात लोगों की बेरहमी से हत्‍या कर दी थी। जिसके जुर्म में शबनम को फांसी की सजा दी गई है। शबनम ने 14-15 अप्रैल 2008 की रात को अपने प्रेमी के साथ मिलकर इस जघन्‍य वारदात को अंजाम दिया था। वह जुलाई 2019 से रामपुर की जेल में बंद है।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here