नासा का मिशन मंगल- NASA ने शेयर की पर्सीवरेंस रोवर के पहियों के निशान वाला फोटो, 2 साल तक जारी रहेगा रिसर्च

0
89
NASA's mission to Mars NASA shares Percussion Rover's wheel-marked photo, research to continue for 2 years
.

वर्ल्ड डेस्क. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने मंगल ग्रह पर पर्सीवरेंस मार्स रोवर (Perseverance Rover) के पहियो के निशान की फोटो शेयर की। रोवर के जरिए अगले 2 साल तक मंगल ग्रह पर रिसर्च किया जाएगा। अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA की ओर से मंगल ग्रह पर भेजा गया पर्सीवरेंस मार्स रोवर (Perseverance Rover) शुक्रवार को पहली बार अपनी लैंडिंग वाली जगह से आगे बढ़ा। करीब 21.3 फीट तक टेस्ट ड्राइव की। इससे मंगल की मिट्‌टी पर उसके पहियों के निशान बन गए। NASA ने इन निशानों की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है।

NASA ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि इस टेस्ट ड्राइव में हमने पर्सीवरेंस के सभी सिस्टम, सबसिस्टम और उपकरणों की जांच की। उन्होंने बताया कि पर्सीवरेंस ने जहां से अपना मिशन शुरू किया, अब उसे ‘ऑक्टिविया ई बटलर लैंडिंग’ नाम दिया गया है। यह नाम एक साइंस फिक्शन ऑथर के नाम पर रखा गया है।

NASA ने आगे कहा कि रोवर जब अपने साइंस गोल के लिए मार्स पर काम करना शुरू करेगा, तो हमें उम्मीद है कि यह रेगुलर 656 फीट यानी 200 मीटर का सफर तय करेगा। पर्सीवरेंस रोवर मोबिलिटी टेस्टबेड इंजीनियर अनायस जारिफायन ने कहा कि यह हमारे लिए पहला अनुभव था। रोवर के 6 पहिए बढ़िया काम कर रहे हैं। यह हमें अगले 2 साल तक साइंस की दुनिया में ले जाने में कामयाब होगा। पर्सीवरेंस को चलाने और टेस्टिंग की यह प्रोसेस करीब 33 मिनट तक चली। पहले वह 13 फीट चला फिर 150 डिग्री लेफ्ट टर्न लेकर वह करीब 8 फीट पीछे आया। अब वह अपने टेम्परेरी पार्किंग स्पेस में है।

18 फरवरी को मार्स पर लैंड हुआ था

पर्सीवरेंस मार्स रोवर (Perseverance Rover) 18-19 फरवरी की दरम्यानी रात मंगल पर जीवन की तलाश के लिए उतरा था। इसने भारतीय समय के अनुसार रात करीब 2 बजे मार्स की सबसे खतरनाक सतह जजीरो क्रेटर पर लैंडिंग की थी। इस सतह पर कभी पानी हुआ करता था। NASA ने दावा किया है कि यह अब तक के इतिहास में रोवर की मार्स पर सबसे सटीक लैंडिंग है। पर्सीवरेंस रोवर (Perseverance Rover) लाल ग्रह से चट्‌टानों के नमूने भी लेकर आएगा।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here