12 मार्च से होगी ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ की शुरुआत, PM मोदी की अध्यक्षता में हुई पहली बैठक

0
65
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास से प्रधानमंत्री नरेन्द्र
मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रतिभाग किया। यह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ का स्मरणोत्सव यथोचित रूप से मनाने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में गठित राष्ट्रीय समिति की पहली बैठक के सम्बन्ध में आयोजित की गयी थी। यह स्मरणोत्सव ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कहलाएगा जो अगले 75 सप्ताह तक चलेगा। इस महोत्सव की शुरुआत 12 मार्च, 2021 से होगी।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपने सम्बोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि इस आयोजन का लक्ष्य लोगों को भारत की आजादी और स्वतंत्रता संग्राम के महत्व को समझाना है। साथ ही, युवा पीढ़ी को स्वतंत्रता आन्दोलन की जानकारी देना है। इससे युवाओं को जोड़ना है। इस आयोजन को एक आन्दोलन का रूप देना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह आयोजन देश के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इस बात का प्रयास किया जाएगा कि यह आयोजन कैसे जन-जन का पर्व बने। यह ऐसा पर्व होना चाहिए जिसमें आजादी का संघर्ष अनुभव हो। इस आयोजन में सनातन भारत के गौरव की झलक होगी। इससे वर्ष 2047 में आजादी के 100 वर्ष को मनाने के सम्बन्ध मंे भी अवधारणा विकसित होगी। उन्होंने कहा कि इस आयोजन के माध्यम से स्वतंत्रता संग्राम के अज्ञात सेनानियों की गाथाओं को भी जन-जन तक पहंुचाया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा भारत की आजादी की 75 वर्षगांठ के अवसर पर राज्य स्तरीय अमृत महोत्सव हेतु राज्य स्तरीय आयोजन समिति का गठन राज्यपाल की अध्यक्षता तथा कार्यकारणी समिति का गठन मुख्यमंत्री की अध्यक्षता मे किया गया है। राज्य सरकार द्वारा स्मरणोत्सव के वृहद आयोजन की रूपरेखा तैयार की गयी है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव युवा कल्याण डिम्पल वर्मा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद तथा प्रमुख सचिव संस्कृति एवं पर्यटन मुकेश कुमार मेश्राम सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

.