मौसम विभाग की चेतावनी, हल्की आंधी-तूफान के साथ बारिश के आले पड़ने की संभावना…

0
23
Weather forecast; weather remains cloudy Meteorological Department warning, possibility of rain with light thunderstorms
.

न्यूज डेस्क. मौसम का मिजाज बदल गया है, बारिश के बाद से ही हल्की ठंड लगने लगी। शनिवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे जिससे वापस गई ठंड फिर आ गई। लोगों को सुबह के समय बाहर निकलने में गर्म हल्के गर्म कपड़े पहनने पड़े। ऐसे मौसम में बीमारी का भी खतरा होता है, इसलिए मौसम विभाग ने सेहत को लेकर अलर्ट किया है। मौसम विभाग ने प्रदेश के 6 जिलों में अलर्ट घोषित करते हुए बारिश के ओला पड़ने और गरज के साथ बिजली गिरने की संभावना जताई है।

मौसम विभाग का कहना है कि मौसम में नमी के कारण ऐसा हुआ है। इसके साथ एक चक्रवात के एक्टिव होने की भी बात कही जा रही है। मौसम विभाग ने अलर्ट किया है कि इस मौसम में सेहत को लेकर सावधान रहें। बारिश के साथ ओला वृष्टि हो सकती है, इस कारण से बचाव को लेकर हमेशा सावधान रहें।

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग ने देर रात गया, नवादा और औरंगाबाद के लिए अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि इन तीन जिलों में कुछ भागों में 13 मार्च को मेघ गर्जन के साथ वज्रपात, बिजली के साथ हल्की सी मध्यम वर्षा हो सकती है। इसके साथ ही 40 से 50 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। मौसम विभाग ने मधुबनी क्षेत्र में भी लोगों से अलर्ट रहने को कहा है। यहां भी बारिश के साथ वज्रपात और बिजली कड़कने की संभावना है। सीतामढ़ी और शिवहर को लेकर भी ऐसा ही अलर्ट है।

मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिम की तरफ से आ रही हवाएं मौसम को प्रभावित कर रही हैं। ऐसे मौसम में बादलों की गरज के साथ बारिश और वज्रपात की संभावना बनी रहती हैं। उत्तर प्रदेश में बारिश के साथ ओला वृष्टि हुई है जिसका असर बिहार में भी देखने को मिला रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि 24 घंटे में मौसम शुष्क बना हुआ है।

मौसम विभाग का कहना है कि दिन एवं रात का तापमान सामान्य से दो डिग्री उपर है। दो दिनों से प्रति च्रकवात का क्षेत्र उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी से उत्तर की ओर खिसक गया है। पिछले दो दिनों की तुलना में नमी युक्त हवा का प्रवाह काफी बढ़ गया है। इसके साथ ही उत्तर झारखंड एवं उत्तरी ओडीसा में च्रकवाती परिसंचरण का क्षेत्र देखा जा रहा है। इसके अलावा एक ट्रफ लाइन मध्य उत्तर प्रदेश से मध्य बिहार होकर बंगाल की खाड़ी की ओर गुजर रही है। समुद्र तल से 2.1 किमी उपर प्रति च्रकवात के कारण नमी युक्त हवा एवं उत्तर पश्चिम दिशा से शुष्क एवं शीतल हवा के सब मिश्रण से मेघ गर्जन युक्त बादल का निर्माण हो रहा है। इन सभी मौसमी कारकों के प्रभाव से प्रदेश भर में एक या दो स्थानों पर बिजली चमक एवं मेघ गर्जन के साथ बारिश का पूर्वानुमान है।

.