रूसी राष्ट्रपति पुतिन की बाइडन को चुनौती, मुझसे ऑनलाइन बहस कर लें, सच्चाई सबके सामने आ जाएगी

0
567
Joe Biden Vs Vladimir Putin , Russian President Vladimir Putin Challenge Joe Biden, US Russia Tension, Former US President Donald Trump, US President Joe Biden, Joe Biden, Russian President Vladimir Putin , रूसी प्रसिडेंट,US प्रेसिडेंट मामले में मुझसे ऑनलाइन बहस कर लें, ताकि दोनों देश की जनता भी इसे देख सके
.

वर्ल्ड डेस्क. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden) पर पलटवार किया है। पुतिन ने एक रशियन टीवी पर बाइडेन को चुनौती दी कि वे उनसे लाइव प्रोग्राम में बात करें और इसे दोनों देशों के लोग भी देखें, ताकि सच्चाई सबके सामने आ जाए। दरअसल, पुतिन का बयान बाइडन की उस टिप्पणी के बाद आया, जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति ने पुतिन को हत्यारा कहा था और रूस पर अमेरिकी चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।

हम जैसे होते हैं, दूसरा भी हमें वैसा ही नजर आता है : पुतिन

बाइडेन (US President Joe Biden) के आरोप पर पुतिन ने रूसी स्कूलों में बोली जाने वाली एक कविता का इस्तेमाल किया, जिसका मतलब है- हम जैसे होते हैं, दूसरा भी हमें वैसा ही नजर आता है। उन्होंने कहा कि मुझे अपने बचपन की एक बात याद है जब हम खेल के मैदान में बहस करते थे और अक्सर कहते थे कि हम जैसे होते हैं, दूसरा भी हमें वैसा ही नजर आता है।

पुतिन (Vladimir Putin) ने कहा कि ये कोई संयोग या बच्चों का मजाक नहीं है। इसके बड़े गहरे मनोवैज्ञानिक अर्थ हैं। हम अपना अक्स हमेशा दूसरों में देखते हैं और सोचते हैं कि वो वैसे ही हैं, जैसे हम हैं। इसके नतीजे में हम किसी व्यक्ति के कार्यों का मूल्यांकन करते हैं और अपनी राय देते हैं।

रूस पर चुनाव प्रभावित करने का आरोप

बाइडेन (US President Joe Biden) का ये बयान तब आया, जब एक अमेरिकी इंटेलीजेंस रिपोर्ट में कहा गया कि पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में धांधली के लिए पुतिन ने एक ऑपरेशन को मंजूरी दी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, रूस और ईरान के अलावा चुनाव प्रक्रिया को क्यूबा, वेनेजुएला और हिजबुल्ला ने भी चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की थी। हालांकि इनका प्रभाव काफी कम था।

खुफिया एजेंसी CIA और नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी (NSA) की 15 पेज की रिपोर्ट में पुतिन के अलावा ईरान के सर्वोच्च नेता अली खमनोई के नाम का उल्लेख भी है। हालांकि पुतिन ने ट्रम्प को फायदा और खमनोई ने ट्रम्प को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की थी।

4 साल पहले भी रूस को लेकर इस तरह के दावे किए थे

4 साल पहले भी एक रिपोर्ट जारी की गई थी। इसमें बताया गया था कि पुतिन ने 2016 में भी चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित किया था। यह रिपोर्ट 2016 के चुनाव को लेकर आई थी। तब ट्रम्प ने जीत दर्ज की थी। इस दौरान रिपब्लिकन उम्मीदवार को फायदा पहुंचाया गया था।

.