गोरखपुर: सकारात्मक सोच का ही परिणाम है कि यूपी का सर्वांगीण विकास हो रहा है- योगी

0
142
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज जनपद गोरखपुर में लगभग 52 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित योगीराज बाबा गम्भीरनाथ प्रेक्षागृह एवं संास्कृतिक केन्द्र का लोकार्पण किया। इसमें मुख्य सभागार में 1076 लोगों तथा छोटे प्रेक्षागृह में 250 लोगों की बैठने की क्षमता है। साथ ही, यहां अत्याधुनिक मीडिया सेन्टर कॉन्फ्रेंस हाल, पार्किंग, कैन्टीन, पुस्तकालय आदि की सुविधाएं उपलब्ध हैं। प्रेक्षागृह एवं सांस्कृतिक केन्द्र का निर्माण प्रदेश के संस्कृति विभाग द्वारा कराया गया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री  ने प्रदेश सरकार की चार वर्ष की उपलब्धियों पर आधारित संस्कृति विभाग की पुस्तक का विमोचन भी किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री  ने कहा कि गोरखपुर में संास्कृतिक कर्मियों/कलाकारांे द्वारा सार्वजनिक कार्यक्रमों हेतु प्रेक्षागृह की मांग लगातार होती रही है। वर्ष 2017 में सरकार बनने के बाद कलाकारों की मांग के अनुरूप गोरखपुर/पूर्वान्चल वासियों के लिए अत्याधुनिक प्रेक्षागृह एवं संास्कृतिक केन्द्र का लोकार्पण आज किया गया है। उन्होंने कहा कि यह प्रेक्षागृह प्रधानमंत्री जी के विजन के अनुरूप लोक कल्याण और राष्ट्र कल्याण के कार्यक्रमों से जुड़े। कला में साधना के साथ ही संस्कृति भी निहित होती है, जो समाज के जागरण का एक माध्यम भी बनती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक कार्यक्रमों, संगोष्ठियों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए इस प्रेक्षागृह मंे उच्चस्तरीय सुविधाएं प्रदान की गयी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सुविधाएं उपलब्ध कराती है, किन्तु उसे संभाल कर नई पीढ़ी को देने की जिम्मेदारी स्थानीय जनमानस की होती है। सार्वजनिक सम्पत्ति की सुरक्षा का दायित्व आप सबका है, इसे किसी भी तरह का नुकसान/क्षति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नकारात्मक सोच विकास में बाधक होती है और सकारात्मक दृष्टि से विकास कार्य आगे बढ़ता है। सकारात्मक सोच का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश का सर्वांगीण विकास हो रहा है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि रामगढ़ताल पर्यटन का एक अच्छा स्पॉट बना है। पहले यहां गंदगी का अम्बार हुआ करता था, लेकिन आज यह पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित हुआ है, जिससे यहां फिल्मों की शूटिंग हो रही है। उन्होंने कहा कि यहां पर वॉटर स्पोर्टस कॉम्प्लेक्स केन्द्र बनाया जायेगा। शीघ्र ही गोरखपुर चिड़ियाघर का भी लोकार्पण किया जाएगा। जुलाई माह तक फर्टिलाइजर कारखाना प्रारम्भ हो जाएगा, जिससे किसानों को बेहतर सुविधाएं प्राप्त होंगी तथा स्थानीय स्तर पर लोगांे को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बी0आर0डी0 मेडिकल कॉलेज के पुनरोद्धार के साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार किया गया हैं। केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश सरकार ने इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारी पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित किया है। लेकिन अभी सतर्कता एवं सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के विजन के कारण गोरखपुर में एम्स का निर्माण हुआ है, जो गोरखपुर के विकास का प्रतीक है। एम्स बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने का केन्द्र बिन्दु भी है। उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी का विकास तेजी से हो रहा है, मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना संचालित की गयी है, जिसके माध्यम से प्रतियोगी छात्र-छात्राआंेे को वर्चुअली व फिजिकली निःशुल्क कोचिंग सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गांव, गरीब, किसान, नौजवान आदि के उत्थान हेतु योजनाएं संचालित की गयी हैं। प्रधानमंत्री  ने योग को वैश्विक मंच पर मान्यता दिलायी है, और 21 जून को अर्न्तराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाता है। योग स्वस्थ जीवन का मूल आधार है।

इस अवसर पर सांसद रवि किशन शुक्ल ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि कला ही जीवन है, एक कलाकार कई रूप में जीता है, कलाकार के अनगिनत रूप होते है। उत्तर प्रदेश में 80 फिल्मों की शूटिंग हो रही है। प्रेक्षागृह कलाकरों का साधना गृह है। आत्मनिर्भर भारत बनाने में कला क्षेत्र का विशेष योगदान है, जिसमें रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं हैं।

कार्यक्रम अवसर पर मण्डलायुक्त  जयन्त नार्लिकर ने उपस्थित सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस अवसर पर कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव पर्यटन, संस्कृति मुकेश मेश्राम सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

.