ICC world Cup: अब तक हुए वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को सात बार हराया…

0
25
ICC World Cup India beat Pakistan seven times in the World Cup held so far
.

स्पोर्ट्स डेस्क. भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच T20 Series को लेकर खबरें चल रही हैं. इन दोनों देशों के बीच 2012-13 के बाद से कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है. ये दोनों टीमें 2013 के बाद से केवल एशिया कप और आईसीसी टूर्नामेंट में ही एक-दूसरे से भिड़ती हैं, लेकिन पाकिस्तानी मीडिया ने दावा किया है कि इसी साल दोनों देश T20 Series खेल सकते हैं. इस खबर के बीच आज ही के दिन 1992 में इमरान खान की कप्तानी में ICC world Cup जीता था. भले ही पाकिस्तान ने वर्ल्ड जीत लिया हो, लेकिन वह वर्ल्ड कप में भारत को कभी हरा नहीं पाया है.

अब तक हुए वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को सात बार हराया है. पिछले कई सालों से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज बंद है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में दोनों टीमें कई बार भिड़ चुकी हैं. द्विपक्षीय सीरीज में भले ही पाकिस्तान ने अधिक जीत दर्ज की हो, लेकिन विश्व कप में वह अभी तक भारत को मात नहीं दे पाई है. दो बार की विजेता भारत ने अब तक विश्व कप में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान का सात बार सामना किया है और हर बार भारतीय टीम को सफलता मिली है. पहली बार दोनों टीमें 1992 में भिड़ी थीं और भारत ने अपने पड़ोसी के खिलाफ जीत का जो सिलसिला शुरू किया था, वह आज तक कायम है.

1992 में पहली बार

ICC world Cup के दौरान भारत और पाकिस्तान का सामना पहली बार हुआ था. इस मैच में पाकिस्तान को 43 रनों से हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 49 ओवर में सात विकेट खोकर 216 रन बनाए थे. इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने नाबाद 54 रनों की पारी खेली थी. इसके जवाब में भारतीय गेंदबाजों पाकिस्तानी टीम को 173 रनों पर ही समेट दिया था. सचिन तेंदुलकर को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया था.

1996 में दूसरी बार

वर्ल्ड कप में यह दूसरा मौका था, जब भारत और पाकिस्तान आमने-सामने थे. भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी. इस मैच में नवजोत सिंह सिद्धू ने 93 रनों की शानदार पारी खेली और भारत ने 287 रनों का स्कोर बनाया. पाकिस्तान ने अच्छी शुरुआत की, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने पूरी टीम को 248 रनों पर ऑल आउट कर दिया. पाकिस्तान यह मुकाबला 39 रनों से हार गया. इस मैच में नवजोत सिंह सिद्धू ‘मैन ऑफ द मैच’ बने.

1999 में तीसरी बार

इस बार भारत ने पाकिस्तान को 47 रनों से हराया. हालांकि, इस टूर्नामेंट में भारत का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया ने पूरा दम दिखाया. भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी. राहुल द्रविड़ ने 61 रन की पारी खेली और भारत ने 6 विकेट पर 227 रन बनाए. इसके जवाब में पाकिस्तानी टीम 180 रनों पर ही ऑल आउट हो गई. इस मैच के ‘मैन ऑफ द मैच’ वेंकटेश प्रसाद रहे थे. उन्होंने पांच विकेट चटकाए थे.

2003 में चौथी बार

सौरव गांगुली की कप्तानी में इस बार वर्ल्ड कप में भारतीय टीम फाइनल तक पहुंची थी, लेकिन फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. इस वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को 6 विकेट से मात दी थी. पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और 7 विकेट के नुकसान पर 273 रन बनाए. इसके जवाब में भारत ने 45.4 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर ही टारगेट को हासिल कर लिया. इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 98 रन की पारी खेली और उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया.

2011 में पांचवीं बार

इस वर्ल्ड कप को भारत ने दूसरी बार जीता था. फाइनल जीतने से पहले सेमीफाइनल में भारत का सामना पाकिस्तान के साथ हआ था. भारत ने सेमीफाइनल में पाकिस्तान को 29 रनों से मात देकर फाइनल में अपनी जगह बनाई थी. भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और 9 विकेट गंवाकर 260 रन बनाए. जवाब में पाकिस्तान की टीम 231 रनों पर ही ढेर हो गई. इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 85 रनों की पारी खेली और उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया.

2015 में छठी बार

इस वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 76 रनों से एकतरफा जीत हासिल की थी. भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी की. इस मैच में विराट कोहली ने 107 रनों की पारी खेली और भारत ने 7 विकेट खोकर 300 रन बनाए. जवाब में पाकिस्तानी टीम 224 रनों पर सिमट गई. इस मैच में विराट कोहली को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया था.

2019 में सातवीं बार

इस वर्ल्ड में भी भारत ने अपना अजेय रिकॉर्ड बरकरार रखा. मैच के दौरान बार-बार बारिश के कारण फैसला डकवर्थ लुईस नियम से हुआ और भारत ने 89 रन पाकिस्तान के खिलाफ जीत हासिल की. इस मैच में रोहित शर्मा ने 140 रन बनाए. 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 336 रन बनाए. जवाब में पाकिस्तान की टीम ने संशोधित लक्ष्य 40 ओवरों 302 के आगे 6 विकेट पर 212 रन ही बना सकी. इस मैच में रोहित शर्मा ‘मैन ऑफ द मैच’ बने.

.