बड़ी खबर- सुप्रीम कोर्ट से योगी सरकार को बड़ी राहत, पंचायत चुनाव का रास्ता हुआ साफ…

0
40
Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath Government Gets Relief From SC; Refuses To Listen Panchayat Elections Petition
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव की तारीखों के ऐलान के कुछ देर बाद ही यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी पंचायत चुनाव के मामले में दखल देने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से हाईकोर्ट जाने को कहा है। इसके साथ ही अब यूपी में पंचायत चुनाव का रास्ता पूरी तरह से साफ हो गया है।

हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ की गई थी अपील

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया था कि हाइकोर्ट में मुख्य दलीलों को नहीं सुना गया है। याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि 1995 की आरक्षण सूची के आधार पर चुनाव करना बेहतर प्रयास था लेकिन उसको बदल दिया गया। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम काेर्ट ने मामले में दखल देेने से इनकार कर दिया और या‍चिकाकर्ता से हाईकोर्ट जाने को कहा। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मामले की सुनवाई की।
मामले में मंगलवार को ही उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट अर्जी भी दाखिल की थी। इस अर्जी में प्रदेश सरकार की ओर से कहा गया था कि जब पंचायत चुनाव को लेकर दाखिल याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करे तब कोर्ट में सरकार का भी पक्ष सुना जाए।

SC में दाखिल की गई थी SLP

सुप्रीम कोर्ट में उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव को लेकर पिछले शनिवार को विशेष अनुमति याचिका यानी एसएलपी दाखिल की गई थी। सीतापुर जिले के दिलीप कुमार की ओर से दाखिल 186 पन्ने की इस याचिका पर आज सुनवाई थी। इस याचिका में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी गई थी।

आरक्षण संबंधी आदेश के बदलने की मांग की गई थी

याचिका में कहा गया था कि हाईकोर्ट ने आरक्षण को लेकर जो आदेश दिया है उसे बदला जाए। याचिकाकर्ता दिलीप कुमार ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई थी कि 1995 को ही आधार वर्ष मानकर इस चुनाव के लिए सीटों का आरक्षण किया जाए। उनका कहना था कि सरकार ने फरवरी में ऐसा ही करने का शासनादेश जारी किया था। इसको लेकर आरक्षण हो भी गया था लेकिन बाद में हाईकोर्ट ने इसे खारिज कर दिया और 2015 को आधार वर्ष मानकर सरकार को नए सिरे से आरक्षण के आदेश दे दिए।

पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान

सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने से थोड़ी देर पहले ही उत्तर प्रदेश में निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया था। राज्य में चार चरणों में पंचायत चुनाव कराया जाएगा। पहला चरण 15 अप्रैल को, दूसरा चरण 19 अप्रैल को, तीसरा चरण 26 अप्रैल को, जबकि चौथा और अंतिम चरण का चुनाव 29 अप्रैल को कराया जाएगा।

राज्य निर्वाचन आयोग के चेयरमैन मनोज कुमार ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चार चरणों में पंचायत चुनाव 15, 19, 26 और 29 अप्रैल को सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक मतदान कराया जाएगा। 2 मई को मतगणना की जाएगी।

.