बिना इजाजत फोटो का इस्तेमाल करने पर अपूर्व असरानी ने दिल्ली हॉस्पिटल लगाई फटकार…

0
145
.

डेस्क. नेशनल अवॉर्ड विजेता फिल्म एडिटर और वेब सीरीज ‘क्रिमिनल जस्टिस’ के राइटर अपूर्व असरानी (National Award winner Apurva Asrani) ने बिना इजाजत उनकी फोटो इस्तेमाल करने पर दिल्ली के एक हॉस्पिटल को फटकार लगाई है। दरअसल, इस अस्पताल ने अपने बैनर में स्ट्रोक के लक्षण समझाने के लिए चार फोटो का इस्तेमाल किया है, जिनमें पहली फोटो अपूर्व की है। फोटो के नीचे फेस ड्रूपिंग (चेहरा टेढ़ा होना) को स्ट्रोक का सिम्पटम बताया गया है।

फोटो देखकर हैरान रह गए अपूर्व

अपूर्व (Apurva Asrani) ने फोटो Social Media पर साझा की और अस्पताल को फटकार लगाते हुए लिखा, “हैरान हूं कि दिल्ली के प्राइमस हॉस्पिटल ने मेरी फोटो मेरी इजाजत के बगैर इस्तेमाल की। यह फोटो 2018 में तब खींची गई थी, जब बेल्स पालसी के चलते मुझे फेशियल पैरालिसिस हो गया था। प्राइमस ने इस बैनर पर यह भी गलत दावा किया है कि मेरी वह हालत स्ट्रोक की वजह से हुई थी। बेहद परेशान करने वाला।

कैसे सामने आया पूरा मामला?

असरानी (Apurva Asrani) ने Social Media पर यह बताने के लिए एक पोस्ट साझा की थी कि मुंबई में उनके कई फैमिली मेंबर्स और करीवी दोस्त कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। इसी पोस्ट पर कमेंट करते हुए एक Social Media यूजर ने इस ओर उनका ध्यान दिलाया था कि दिल्ली के एक अस्पताल के पोस्टर में उनकी फोटो का इस्तेमाल किया गया है।

‘स्निप’ के लिए मिला था नेशनल अवॉर्ड

43 साल के अपूर्व ने ‘सत्या’ (1998), ‘स्निप’ (2000), शाहिद (2012), ‘धर्म संकट में’ (2015), ‘अलीगढ़’ (2015) जैसी फिल्मों के साथ-साथ वेब सीरीज ‘मेड इन हेवन’ की एडिटिंग भी की है। इसके अलावा उन्होंने फिल्म ‘अलीगढ़’ की कहानी, डायलॉग्स, स्क्रीनप्ले लिखा था। वे वेबसीरीज ‘क्रिमिनल जस्टिस’ के स्क्रीनप्ले और डायलॉग्स राइटर भी हैं। 2000 में रिलीज हुई फिल्म ‘स्निप’ के लिए बेस्ट एडिटर का नेशनल अवॉर्ड मिला था।

.