वाराणसी :- कोर्ट को उड़ाने की धमकी देने वाला गिरफ्तार, खुद के अपहरण की रच चूका है साजिश 

0
87
Arrested for threatening to blow up court
.

Arrested for threatening to blow up court वाराणसी :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लखनऊ स्थित सरकारी आवास पर कॉल कर वाराणसी सिविल कोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला गिरफ्तार कर लिया गया है। वाराणसी कमिश्नरेट की पुलिस की गिरफ्त में आया आरोपी मोनू सोनकर फुलवरिया क्षेत्र के पहलू का पुरा रहने वाला है।

उसने अपने पड़ोसी से पुराने विवाद की रंजिश में उसकी बेटी का मोबाइल चुराया था। उसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही वाराणसी के एसपी ग्रामीण के सरकारी आवास के लैंड लाइन और इंस्पेक्टर कैंट के सरकारी मोबाइल नंबर पर भी फोन किया था। आरोपी को आज अदालत में पेश कर जेल भेजा जाएगा।

Arrested for threatening to blow up court 30 सितम्बर को दी गयी थी धमकी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार यानी 1 अक्टूबर को वाराणसी दौरे पर आए थे। उससे पहले 30 सितंबर को पुलिस के पास कॉल आई कि कल वाराणसी स्थित सीएम योगी आदित्यनाथ के सभा स्थल और सिविल कोर्ट में बम धमाका होगा। इसके साथ ही कॉल करने वाले ने पुलिस से जमकर गाली गलौज भी किया। आरोपी मोनू सोनकर से कैंट थाने में पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने खुद पूछताछ की।सर्विलांस की मदद से क्राइम ब्रांच और कैंट थाने की पुलिस ने मोबाइल नंबर से संबंधित शख्स के नाम और पते की तस्दीक की।

पता लगा कि जिस नंबर से कॉल आई थी वह फुलवरिया के पहलू का पुरा क्षेत्र में रहता है। पुलिस ने उसको उठाया तो उसने बताया कि मोबाइल उसकी बेटी का है।उसकी पत्नी सब्जी की दुकान लगाती है और 30 सितंबर की शाम ही वह मोबाइल वहीं से गायब हो गया था। उसे शंका है कि उसके पड़ोसी के शातिर बेटे मोनू ने उसे फंसाने के लिए उसका मोबाइल चुरा कर हर जगह धमकी भरी कॉल की है।

खुद के अपहरण की रच चूका है साजिश

पुलिस ने मोनू को उठाया और उससे पूछताछ शुरू की। सामने आया कि वह वर्ष 2017 में खुद के अपहरण की साजिश रचा था और पड़ोसी पर मुकदमा दर्ज हुआ था। मोनू उस दौरान बिहार से बरामद हुआ था। पुलिस की जांच में सामने आया था कि पड़ोसी व उसके परिवार के लोगों को फंसाने के लिए उसने अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी थी। आरोपी मोनू सोनकर को कैंट थाने की पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

उसी रंजिश में एक बार फिर उसने अपने पड़ोसी को फंसाने के लिए उसकी बेटी का मोबाइल चुरा कर बम ब्लास्ट की धमकी दी है। बाद में जब उसे लगा कि मामला तूल पकड़ चुका है तो उसने पड़ोसी का मोबाइल उसी की छत पर फेंक दिया।इस संबंध में पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने बताया कि पड़ताल के बाद वास्तविक आरोपी पकड़ लिया गया है। उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की उचित धाराओं में कार्रवाई करते हुए उसे जेल भेजा जाएगा।
.