Ayodhya Crime News: लापता व्यवसायी के पुत्र का मिला शव, पुलिस बोली- अवैध संबंध के चलते दोस्त ने की हत्या

0
173
.

क्राइम डेस्क. उत्तर प्रदेश के अयोध्या में उस वक्त हडकंप मच गया जब बुधवार को पान मसाला व्यवसायी के लापता पुत्र शुभम का शव बरामद हुआ। बताया जा रहा है, अयोध्या कोतवाली से 25 किलोमीटर दूर ले जाकर उसके दोस्त ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या (Murder) की थी. यही नहीं, हत्या के बाद उसके शव को जमीन में कब्र खोदकर दफना दिया था. जबकि घटना के पीछे अवैध संबंध का शक बताया जा रहा है.

बताया जा रहा है, अयोध्या के पान मसाला व्यापारी करुणा निधान चौरसिया का पुत्र सोमवार को दुकान का सामान खरीदने गया था, लेकिन शाम तक वापस नहीं लौटा और उसका फोन भी स्विच ऑफ हो गया. इसके बाद घबराए परिवारजनों ने अयोध्या कोतवाली में सूचना दी. इकसे बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो पहले शुभम की स्कूटी बरामद हुई. बताया जाता है कि स्कूटी खड़ी कर रहा युवक पास में लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गया और जब पुलिस ने उस युवक की पहचान कर उससे पूछताछ शुरू की तो धीरे धीरे पूरा मामला सामने आ गया.

आरोपियों की निशानदेही पर अयोध्या कोतवाली से 30 किलोमीटर दूर महाराजगंज थाना क्षेत्र के एमिआलापुर की सुनसान जगह पर जमीन में कब्र खोदकर दफनाए गए शुभम के शव बरामद कर लिया है. जानकारी के मुताबिक, उसके एक दोस्त को शुभम पर अपनी पत्नी से अवैध संबंध का शक था, इसीलिए वह उसको अपने साथ ले गया और साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी. यही नहीं, शुभम के हाथ पैर बांधकर जमीन में गड्ढा खोदकर उसके शव को दफना दिया. इस घटना के बाद शुभम ने पिता ने कहा कि उसके पास अब कुछ भी नहीं बचा है, लेकिन आरोपियों को कठोर से कठोर सजा मिले, तभी मन को शांति मिलेगी. सुभम सोमवार को करीब तीन बने सामान खरीदने के लिए घर से निकला था.

पुलिस बोली- हत्याा के पीछे अवैध संबंध का मामला

एसपी सिटी विजय पाल सिंह ने बताया कि थाना कोतवाली अयोध्या क्षेत्र में 8 मार्च 2021 की दोपहर शुभम चौरसिया उम्र करीब 25 साल पुत्र करुणा निधान चौरसिया निवासी उर्दू बाजार थाना कोतवाली अयोध्या सिंगार हॉट के पास एक जनरल स्टोर से अपनी दुकान के लिए सामान खरीदने गया था, लेकिन वह शाम तक नहीं लौटा तो परिवार ने इसकी सूचना पुलिस को दी. परिजनों की तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली अयोध्या में मामला दर्ज किया गया. इसके बाद पुलिस के साथ एसओजी और सर्विलेंस टीम को लगाया गया और इन टीमों ने मामले का खुलासा किया है. साथ ही उन्होंेने कहा कि शव की पहचान परिजनों के द्वारा कराने के बाद पंचायतनामा की कार्यवाही कराई जा रही है. वहीं, घटना में जो संदिग्ध हैं उनसे पूछताछ की जा रही है और शीघ्र ही दोषियों को जेल भेजा जाएगा.

सुशांत की पत्नी से बात करता था शुभम

एसपी सिटी ने कहा कि शुभम चौरसिया का एक दोस्त सुशांत पांडे था. जबकि सुशांत की पत्नी से शुभम बातचीत करता था और यह उसको (सुशांत) अच्छी नहीं लगती थी. इस वजह से सुशांत ने अपने साथियों के साथ मिलकर के शुभम की हत्या की घटना को अंजाम दिया है.

.