अयोध्या- संपत्ति विवाद में हुई थी हनुमानगढ़ी के नागा साधु की हत्या, पुलिस ने दो आरोपितों को किया गिरफ्तार

0
73
.

क्राइम डेस्क. उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में हनुमानगढ़ी के नागा साधु महंत कन्हैया दास की हत्या का खुलासा बुधवार को पुलिस ने कर दिया। अयोध्या कोतवाली व स्वाट टीम ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपित शशिकांत दास को मोहबरा चौराहे पर गिरफ्तार किया गया, जबकि उसके भाई अंश मिश्रा को राम प्रस्थ होटल के पास से गिरफ्तार किया गया है। कन्हैया दास की हत्या संपत्ति के विवाद में की गई थी। आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

SSP शैलेश पांडे ने बताया कि कन्हैया दास की हत्या संपत्ति के लालच में की गई थी। महंत कन्हैया दास व आरोपित शशिकांत दास गुरु भाई हैं, जो अपने गुरु की संपत्ति पर अकेले कब्जा करना चाहता था। दोनों के बीच संपत्ति विवाद का केस भी न्यायालय में चल रहा है।

आरोप है कि शशिकांत दास ने अपने साथियों के साथ शिवरात्रि के समय ही महंत कन्हैया दास को हमेशा के लिए रास्ते हटाने की योजना अपने भाई अंश व तीन अन्य के साथ मिलकर बनाई थी। अन्य जनों को संपत्ति की जमीन व कैश देने की लालच देकर हत्याकांड में शामिल किया। तीन दिन पहले तीन अप्रैल की रात कन्हैया दास की उस समय ईंट से कूंच कर हत्या कर दी, जब वे चरण पादुका मंदिर की गोशाला में सो रहे थे।

साजिश की धाराएं केस में बढ़ीं

SSP के मुताबिक इस प्रकरण में शामिल तीन अन्य आरोपित अभी फरार हैं। जिनकी भी पुलिस तलाश कर रही है। हत्या की धारा में दर्ज केस में धारा 120B बढ़ा दी गई है। सर्विलांस व स्वाट टीम की मदद से शशिकांत दास गोलू वह अंश मिश्रा की गिरफ्तारी के साथ हत्या कांड में प्रयुक्त इनोवा कार व इंटे भी पुलिस ने बरामद किया है।

.