बारबाडोस ब्रिटिश शासन से मुक्त होकर रिपब्लिक बनेगा, अब इसका अपना राष्ट्रध्वज और राष्ट्रगान होगा

0
127
.

ब्रिजटाउन: कैरेबियन द्वीप बारबाडोस नया गणतंत्र बनने जा रहा है। अब कॉमनवेल्थ देशों में तो यह गिना जाएगा, लेकिन यहां ब्रिटेन की महारानी का शासन नहीं होगा। 2018 से अब तक ब्रिटेन की रॉयल फैमिली के प्रतिनिधि के तौर पर गवर्नर जनरल रहीं सांद्रा मेसन की जगह अब मिया अमोर मोटली प्रधानमंत्री चुनी गईं हैं। देश का अपना राष्ट्रध्वज और राष्ट्रगान होगा। बारबाडोस की आबादी करीब 2 लाख 85 हजार है। यहां करीब 200 साल तक गुलाम प्रथा रही। बारबाडोस से पहले गुयाना (1970) और त्रिनिडेड और टोबैगो (1976) ब्रिटिश गुलामी से मुक्त हुए थे। दो साल बाद 1978 में डोमिनिका भी रिपब्लिक बना।

अब तक सांद्रा मेसन यहां कॉमनवैल्थ देशों की तर्ज पर गवर्नर जनरल थीं। लेकिन, अब यहां प्रधानमंत्री मिया अमोर मोटली होंगी।

अगर बदलाव की बात करें तो बारबाडोस वैसे तो 1966 में ही ब्रिटिश शासन से आजाद हो गया था, लेकिन यहां अब भी क्वीन एलिजाबेथ का ही शासन चलता था। इस कैटेगरी में अब भी जमैका और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं। प्रिंस चार्ल्स खुद समारोह में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे। 30 नवंबर को देश का स्वतंत्रता दिवस मनाया जाएगा।

.