वसुधैव कुटुंबकम की भावना के पीछे परस्पर वैमनस्य, कटुता, शत्रु एवं घृणा को कम करना है- केशव

0
251
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पारिवारिक एकता ही विश्व एकता की आधारशिला है ।संयुक्त परिवार का कारण भारत की कृषि प्रधान व्यवस्था के अतिरिक्त प्राचीन परंपराओं तथा आदर्शों में निहित है। वसुधैव कुटुंबकम की भावना के पीछे परस्पर वैमनस्य ,कटुता ,शत्रु एवं घृणा को कम करना है। लोगों से परिवार बनता है परिवार से राष्ट्र और राष्ट्र से विश्व बनता है। केशव प्रसाद मौर्य आज सिटी मांटेसरी स्कूल राजाजीपुरम द्वारा वर्चुअल आयोजित अंतरराष्ट्रीय पारिवारिक एकता सम्मेलन को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे ।

अंतर्राष्ट्रीय पारिवारिक एकता सम्मेलन के आयोजन की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि आज के परिवेश में इस तरह का सम्मेलन बहुत ही प्रासंगिक और समीचीन है। हम सबको पारिवारिक एकता की शुरुआत अपने घर से करनी चाहिए और वसुधैव कुटुंबकमम् की भावना के साथ रहना चाहिए ।कोविड काल में देश ने वसुधैव कुटुंबकम् की भावना को बहुत अच्छी तरह से प्रदर्शित किया है और हम सब लोगों ने मिलकर एकता की कड़ी को मजबूत करते हुए लोगों की सेवा की है।

केशव प्रसाद मौर्य ने अपने सारगर्भित व प्रेरक उद्बोधन में रामायण और महाभारत के विभिन्न प्रसंगों की याद ताजा करते हुए कहा कि रामायण और महाभारत से हमें पारिवारिक एकता के सन्देश व सीख मिलती है। सशक्त देश ही विकास के पथ अग्रसर हो सकता है।

उन्होने सिटी मांटेसरी स्कूल के इस आयोजन में भाग लेने वाले सभी लोगों व छात्र-छात्राओं में एक नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करते हुए कहा कि संयुक्त परिवार बच्चों के विकास के लिए अमृत्तुल्य होता है और खासकर उनके मानसिक विकास के लिए ।बच्चों को संस्कारवान बनाने ,चरित्रवान बनाने एवं उनके नैतिक विकास में संयुक्त परिवार का विशेष योगदान होता है। मानवीय मूल्यों की स्थापना और उनकी मजबूती के लिए पारिवारिक एकता बहुत जरूरी है।

एक भारत-श्रेष्ठ भारत के भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नारे का उदारण देते हुए उन्होंने कहा कि हमारा पहला धर्म सेवा होना चाहिए, सेवा से बड़ी शक्ति खड़ी होती है ।हम सबको एकजुट होकर सेवा करना है,इससे हमारे जीवन में भी खुशियां आएंगी।

उन्होंने कहा कि पारिवारिक एकता सम्मेलन के इस पावन अवसर पर हम सबको मिलकर ,एक होकर रहने का संकल्प लेना होगा और हमें अपने व्यक्तिगत जीवन में ऐसा आचरण करना होगा कि परिवार एकजुट रहें। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनता हमारा परिवार है। प्रदेश में जो भी योजनाएं बनाई जाती है, वह 24 करोड़ों लोगों के हितों को ध्यान में रखकर बनाई जाती हैं। पारिवारिक एकता बड़ों का और गुरुओं का सम्मान करने से भी बढ़ती है। भारत विश्व को हमेशा एकता का संदेश देता रहा है।

उन्होंने कहा कि जब फिजिकली रूप से ऐसे कार्यक्रम हो, तो संयुक्त परिवार के सदस्यों को भी ऐसे आयोजनों ने सम्मिलित किया जाए ।इससे लोगों को प्रेरणा मिलेगी। सिटी मांटेसरी स्कूल के फाउंडर जगदीश गांधी ,गीता गांधी ,रोशन गांधी आदि ने एकता पर अपना संदेश दिया और उपमुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here