मुख्यमंत्री ने गोण्डा में 97 परियोजनाओं का शिलान्यास एवं 47 परियोजनाओं का लोकार्पण किया

0
65
.

गोण्डा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोण्डा में जनपद की 1132.35 करोड़ रुपए लागत की 144 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसके तहत 938.78 करोड़ रुपए की लागत की 97 परियोजनाओं का शिलान्यास एवं 193.57 करोड़ रुपए की लागत से 47 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। इन परियोजनाओं में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त 282 करोड़ रुपए की लागत से महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी महाराजा देवी बख्श सिंह के नाम से बनने वाला राजकीय मेडिकल कॉलेज, गोण्डा का भी शिलान्यास सम्मिलित है। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र वितरित किये तथा विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टालों का भी अवलोकन किया।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देवीपाटन मण्डल में तीन मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं। इनमें जनपद बहराइच में 10वीं शताब्दी के महान योद्धा महाराजा सुहेलदेव के नाम से वर्तमान में बनवाया गया मेडिकल कॉलेज कार्य कर रहा है। गोण्डा जनपद मुख्यालय पर अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त बनने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज से देवीपाटन मण्डल के साथ ही पूर्वांचल के बच्चों सहित अन्य लोगों को उच्चस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं मिल सकेंगी। इनके अलावा, ऐसे बच्चे जो मेडिकल की तैयारी करना चाहते हैं, उनका भविष्य संवरेगा और वे चिकित्सक बन सकंेगे। इस मेडिकल कॉलेज में आगामी 2022-2023 सत्र से प्रवेश शुरू हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने जनपद में मेडिकल कॉलेज सहित जनपद के लिए कई उपयोगी अन्य परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया, जिसमें 586.607 करोड़ रुपए की लागत से 14 परियोजनाएं, 76 करोड़ 51 लाख रुपए की लागत से सांसद और विधायक निधि से 944 निर्माण कार्य, विधायक निधि कटरा बाजार से 5.74 करोड़ रुपए से 81 निर्माण कार्य, विधायक व सांसद निधि से जिला अस्पताल व सी0एच0सी0 केंद्रों पर ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, एक्सरे मशीन, एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई। 21 लाख 08 हजार 392 लोगों को कोविड-19 का टीकाकरण, 374 ऑक्सीजन युक्त बेड साथ ही 368 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त बेड क्रियाशील, जिला अस्पताल में 80 बेड का पीकू वार्ड, 3,330 एलपीएम क्षमता के 04 आक्सीजन प्लांटों की स्थापना, 02 लाख 90 हजार लाभार्थियों को जननी सुरक्षा योजना से 31 करोड़ 86 लाख रुपए का लाभ, 02 लाख 85 हजार 205 लोगों का गोल्डन कार्ड से लगभग 11 करोड़ रुपए का मुफ्त इलाज, 69,704 लाभार्थियों को 27.40 करोड़ रुपए का प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना का लाभ, 745 करोड़ 90 लाख रुपए से 04 लाख 96 हजार कृषकों को किसान सम्मान निधि का लाभ, 02 करोड़ 46 लाख रुपए से 6,936 कृषकों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ, 88 धान क्रय केन्द्र संचालित, 04 लाख उपभोक्ताओं के घर-घर विद्युत कनेक्शन, 05 अदद 33/11 के0वी0 और 02 अदद 132 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्रों का निर्माण, 129 पेयजल परियोजनायें संचालित, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण व शहरी) से 41,852 व 4,773 लाभार्थियों को आवास, मुख्यमंत्री आवास योजना से अब तक 2,266 लाभार्थियों को आवास, 5,586 स्वयं सहायता समूहों का गठन, 06 लाख 06 हजार 897 राशन कार्ड धारकों को कोविड महामारी के दौरान निःशुल्क खाद्यान्न, 02 लाख 70 हजार 573 लोगों को उज्ज्वला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनेक्शन, 01 लाख 81 हजार 356 श्रमिकों का उ0प्र0 भवन संनिर्माण कर्मकार बोर्ड में पंजीकरण, 27,129 पात्र श्रमिकों को 33.26 करोड़ रुपए की धनराशि से लाभान्वित, असंगठित क्षेत्र के 01 लाख 40 हजार 150 श्रमिकों को ई-श्रम पोर्टल पर पंजीयन कराया जा चुका है।

 

.