मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्रामीण मार्गों का लोकार्पण व शिलान्यास कर दिया आश्वासन

0
59
.

लखनऊ, बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ग्रामीण मार्गों का लोकार्पण व शिलान्यास किया साथ ही कार्यक्रम में कहा कि सड़क आवागमन के माध्यम ही नहीं ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का माध्यम भी हैं।दुनिया में जो भी देश विकसित हैं उसके पीछे उनका मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर है। उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में जहां ज्यादातर आबादी गावों में रहती है, वहां यदि आवागमन के अच्छे मार्ग नहीं होंगे तो स्वाभाविक रूप से वहां की अर्थव्यवस्था मजबूत नहीं होगी। इसके लिए अच्छी सड़कें अत्यंत महत्वपूर्ण हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इन मार्गों के निर्माण कार्य की गुणवत्ता को परखने और समयबद्धता के लिए स्टेट क्लालिटी मानीटर भी तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि विकास के लिए धन का अभाव नहीं हैं, लेकिन धन समय पर और सही जगह खर्च हो, यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि जिलों से अच्छे और खराब दोनों कार्यों की शिकायतें मुझे मिलती हैं। इसी का परिणाम हैं कि लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। जरूरत पड़ने भ्रष्टाचार के मामलों में मुकदमा भी दर्ज किया जा रहा है।

बता दें, ग्रामीण मार्गों के निर्माण कार्य का शुभारंभ व नवीनीकरण कार्य का वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिला पंचायत की 537.82 किलोमीटर मार्गों को हाट मिक्स प्लांट के माध्यम से बनाया जा रहा है। पहले जिस पद्धति से सड़कें बनती थी वह सस्ती तो थी लेकिन टिकाऊ नहीं होती थी, लेकिन अब जिस तकनीक से सड़कें बन रही हैं वे टिकाऊ और मजबूत हैं। गांवों के लोग ज्यादा समय तक इन सड़कों का लाभ ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि जिन स्थानों पर सही प्रकार से समीक्षा होती हैं वहां की सड़कें अच्छी होती हैं। लेकिन, जहां इस कार्य में लापरवाही बरती जाती है वहां की सड़कों में गड्ढे बन जाते हैं। इस लिए हमें ध्यान देना होगा कि भ्रष्टाचार के लिए कोई स्थान कहीं पर भी न रहे। ठेकेदारों का अनावश्यक तरीके से भुगतान न रोका जाए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि ग्राम्य विकास विभाग और पंचायतीराज विभाग बहुत जल्द गांवों के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए मातृ भूमि योजना लाने वाले हैं।

.