CM Yogi ने ‘पुलिस स्मृति दिवस’ के अवसर पर कर्तव्य की वेदी पर अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की

0
123
.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘पुलिस स्मृति दिवस’ के अवसर पर कर्तव्य की वेदी पर अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिसकर्मियों को आज यहां रिजर्व पुलिस लाइन्स में श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने इस मौके पर आयोजित परेड की सलामी ली और शोक पुस्तिका भी प्राप्त की। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि प्रदेश पुलिस के सभी सदस्य पूरी ईमानदारी, कर्तव्य परायणता तथा जनसेवा की भावना से कार्य करते हुए, उत्तर प्रदेश की जनता के मन में सुरक्षा की भावना को और अधिक सुदृढ़ करने में सहयोग करेंगे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने निरीक्षक, उपनिरीक्षक, मुख्य आरक्षी, आरक्षी और चतुर्थ श्रेणी के कर्मियों के लिए उनके पौष्टिक आहार भत्ते में 25 फीसदी की वृद्धि करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने मोबाइल सिम में बढ़ोत्तरी तथा सिम भत्ता बढ़ाए जाने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने प्रदेश के अन्दर कानून-व्यवस्था एवं शान्ति व्यवस्था को बनाए रखने, विभिन्न घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने तथा घटना स्थल पर शीघ्रातिशीघ्र पहुंचने के दृष्टिगत नागरिक पुलिस के फील्ड ड्यूटी पर तैनात आरक्षी, मुख्य आरक्षी तथा उपनिरीक्षक तक के कर्मियों को मोबाइल सिम उपलब्ध कराए जाने और इन सभी कर्मियों को वार्षिक रूप से 2,000 रुपए का सिम भत्ता प्रदान किये जाने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के विभिन्न जनपदों तथा इकाइयों में नियुक्त पुलिस कर्मियों की सुख-सुविधा हेतु 15 करोड़ रुपये तथा उनके कल्याण हेतु 20 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। कार्यरत व सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों एवं आश्रितों के चिकित्सा प्रतिपूर्ति संबंधी 1,926 दावों के निस्तारण हेतु 09 करोड़ 15 लाख रुपये, 05 लाख रुपये से अधिक के चिकित्सा प्रतिपूर्ति संबंधी 403 प्रकरणों हेतु 48 करोड़ 13 लाख रुपये, 288 पुलिस कर्मियों एवं उनके आश्रितों को गम्भीर बीमारियों के उपचार हेतु तात्कालिक रूप से अग्रिम ऋण के रूप में 11 करोड़ 09 लाख रुपये, जीवन बीमा योजना के अन्तर्गत बीमित 1,522 मृतक पुलिस कर्मियों के आश्रितों को सहायता के रूप में 26 करोड़ 15 लाख रुपये का भुगतान किया गया है। इसके अलावा पुलिस कर्मियों एवं उनके आश्रितों द्वारा कराये गये उपचार से सम्बन्धित 07 करोड़ 15 लाख रुपये का भुगतान भी किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा कर्तव्य पालन के दौरान शहीद पुलिस कर्मियों के साथ-साथ केन्द्रीय अर्द्ध सैन्य बलों/अन्य प्रदेशों के अर्द्ध सैन्य बलों तथा भारतीय सेना में कार्यरत एवं मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहने वाले 527 शहीद कर्मियों के आश्रितों को 124 करोड़ 24 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की गयी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अपने कर्तव्यों के प्रति समर्पित पुलिस कर्मियों को सम्मानित करने और उनका मनोबल बढ़ाने के लिए गणतंत्र दिवस- 2021 एवं स्वतंत्रता दिवस-2021 के अवसर पर विशिष्ट सेवाओं के लिए 04 अधिकारियों और कर्मियों को ‘राष्ट्रपति का पुलिस पदक’ तथा 119 अराजपत्रित पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को सराहनीय सेवाओं के लिए ‘पुलिस पदक’ से सम्मानित किया गया है। भारत सरकार गृह मंत्रालय के यूनियन होम मिनिस्टर के ‘उत्कृष्ट सेवा पदक’ हेतु 784 एवं ‘अति उत्कृष्ट सेवा पदक’ हेतु 962 नामों की सूची भारत सरकार को भेजी गयी है। 05 राजपत्रित व अराजपत्रित अधिकारियों और कर्मियों को ‘मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पुलिस पदक’ प्रदान किये गये हैं। इसके अलावा पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 द्वारा 95 अराजपत्रित पुलिस कर्मियों को ‘उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिन्ह’ तथा 402 पुलिस कर्मियों को ‘सराहनीय सेवा सम्मान चिन्ह’ प्रदान किये गए। 767 राजपत्रित और अराजपत्रित पुलिस कर्मियों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पुलिस महानिदेशक के प्रशंसा चिन्ह-‘डी0जी0 कमेण्डेशन डिस्क’ से सम्मानित किया गया है।

उत्तर प्रदेश पुलिस के मनोबल, कार्यकुशलता एवं व्यावसायिक दक्षता को बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा विगत 01 वर्ष के दौरान उठाए गए कुछ महत्वपूर्ण कदमों की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आरक्षी पुलिस के 49,568 पदों पर सीधी भर्ती की प्रक्रिया 01 वर्ष के अन्दर पूर्ण की गयी हैं। इसमें से 15,501 रिक्रूटों का प्रशिक्षण 28 जून, 2021 से प्रारम्भ हो गया है। इसके अतिरिक्त 1,080 रिक्रूटों का भी आधारभूत प्रशिक्षण 02 सितम्बर, 2021 से प्रारम्भ किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस विभाग के विभिन्न अराजपत्रित पदों पर 23,075 कार्मिकों को पदोन्नति प्रदान की जा चुकी है। राज्य सरकार द्वारा पुलिस बल में उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस के 9,027 पदों, प्लाटून कमाण्डर के 484 पदों तथा अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के 23 पदों सहित कुल 9,534 पदों के साथ-साथ लिपिक संवर्ग में कम्प्यूटर ऑपरेटर ग्रेड-ए के 1,329 पदांे, रेडियो कर्मशाला कर्मियों के 116 पदों, रेडियो सहायक परिचालक के 1,300 पदों, रेडियो प्रधान परिचालक के 828 पदों कुल 2244 पदों तथा मृतक आश्रित के अन्तर्गत उप निरीक्षक ना0पु0 के 238 पदों की लिखित परीक्षा 05 सितम्बर, 2021 को सम्पन्न करायी गयी है। लिखित परीक्षा के परिणाम जारी करने की प्रक्रिया प्रचलित है। मृतक आश्रित के अन्तर्गत उप निरीक्षक नागरिक पुलिस के 580 पदों पर भर्ती हेतु शारीरिक दक्षता परीक्षा उ0प्र0 पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा प्रचलित है। उप निरीक्षक नागरिक पुलिस के 829 एवं आरक्षी ना0पु0 के 26,744 पदों पर सीधी भर्ती हेतु अधियाचन उ0प्र0 पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड को भेजा जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टालरेंस की नीति के तहत कार्य कर रही है। इसके परिणामस्वरूप विभिन्न जनपदों में दुर्दान्त अपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही के दौरान 20 मार्च, 2017 से 10 अक्टूबर, 2021 की अवधि में कुल 151 अपराधी मुठभेड़ में मारे गये एवं 3,473 घायल हुए। इस कार्यवाही में पुलिस बल के 13 जवानों ने अप्रतिम शौर्य का प्रदर्शन करते हुए वीरगति प्राप्त की और 1,198 पुलिस कर्मी घायल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गयी है। इसके माध्यम से महिला सम्बन्धी शिकायतों की समुचित ढंग से सुनवायी तथा उनकी समस्याओं का गुणात्मक समाधान व अनुश्रवण किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश पुलिस के सभी जनपद, रेंज, जोन एवं मुख्यालय के अतिरिक्त विभिन्न इकाइयों के द्वारा फेसबुक प्लेटफॉर्म के माध्यम से भी जनता की शिकायतों के निस्तारण करने के लिये सराहनीय कार्य किया जा रहा है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने पुलिस लाइन में स्थापित स्मारक पर पुष्पचक्र चढ़ाकर शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने शहीदों के परिजनों से भेंट कर उनकी कुशल और क्षेम पूछी।

.