क्षमता से ज्यादा मुसाफिरों को ले जा रही नाव नदी में पलटी, 100 से ज्यादा लोग डूबे, अब तक 51 शव मिले

0
105
.

DESK NEWS| कांगो में इसी साल 15 फरवरी को नाव पलटने से 60 लोगों की मौत हो गई थी। ये हादसा भी कांगो नदी में  हुआ था। डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में नाव के पलटने से 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और करीब 60 लापता हैं। यह हादसा कांगो नदी में हुआ। उत्तर पश्चिमी प्रांत मोंगाला के गवर्नर के प्रवक्ता नेस्टर मैगबाडो ने बताया कि 51 शवों को बरामद कर लिया गया है, जबकि 60 से ज्यादा लोग अभी भी लापता हैं। इस हादसे में 39 लोग सुरक्षित भी बचाए गए हैं।

मैगबाडो ने बताया कि दुर्घटना रात के दौरान खराब मौसम के कारण या फिर अधिक भीड़भाड़ की वजह से हुई होगी। हादसे में मरने वालों की ठीक संख्या पता करने के लिए अभी कुछ समय तक इंतजार करना होगा। प्रांतीय अधिकारियों ने तीन दिन के लिए शोक की घोषणा की है।

कांगो में अक्सर होती हैं नाव दुर्घटनाएं
कांगो में नाव दुर्घटनाएं आम हैं, क्योंकि इनमें अक्सर क्षमता से ज्यादा यात्री सवार होते हैं। साथ ही यात्रा के दौरान ज्यादातर लोग लाइफ जैकेट नहीं पहनते हैं। इसी साल फरवरी में माई-नदोम्बे प्रांत में कांगो नदी में नाव पलटने से बड़ा हासदा हुआ था। इसमें 60 लोगों की मौत हो गई थी। नाव में 700 से ज्यादा यात्री सवार थे। जांच में पता चला कि क्षमता से अधिक यात्रियों के सवार होने से यह दुर्घटना हुई।

2010 में नाव पलटने से 135 मौतें हुईं
जनवरी, 2021 में किवु झील में यात्री नाव के डूबने से तीन लोगों की मौत हो गई थी। इनमें दो बच्चे और एक महिला शामिल थे। वहीं, मई 2020 में किवु झील में ही नाव पलटने से 8 साल की बच्ची समेत 10 लोगों की मौत हुई थी। इससे पहले जुलाई, 2010 में पश्चिमी प्रांत बांडुंडु में नाव के पलटने से 135 से ज्यादा लोगों की जान चली गई थी।

 

Source link

.