Corona Effect-लगातार दूसरे साल भी कमी का दौर; यूरोप में बढ़े पर्यटक, ब्रिटेन में 82% घटे

0
85
.

कोरोना काल के बाद यूरोप पर्यटकों के लिए खुल रहा है। यूराेप के कई देशों में पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है लेकिन ब्रिटेन में पर्यटकों के कदम नहीं पड़ रहे हैं। कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या, सप्लाई चेन बाधित होना और यात्रा प्रतिबंधों में लगातार अनियमित रूप से बदलाव के कारण पर्यटक ब्रिटेन का रुख नहीं कर रहे हैं। ब्रिटेन में 2019 की तुलना में 2021 में अब तक पर्यटकों की संख्या में 82 फीसदी की कमी आई है।

ब्रिटेन के नेशनल टूरिस्ट बोर्ड के अनुसार क्रिसमस और न्यू ईयर के दौरान भी पर्यटकों की आमद बढ़ने की कोई संभावना नहीं है। जबकि ब्रिटेन के पड़ोसी देश फ्रांस में 2020 की तुलना में 2021 में पर्यटकों की संख्या में 35 फीसदी की वृद्धि हुई। फ्रांस की अर्थव्यवस्था में पर्यटकों की आमद से लगभग 4300 करोड़ रुपए की आय बढ़ी। यूके टूरिज्म एलायंस के कर्त जैनसन का कहना है कि ब्रिटेन में पर्यटकों की कमी का सबसे बड़ा का कारण कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ना और सरकार की दोषपूर्ण नीतियां हैं।

स्पेन में 64 फीसदी सैलानी बढ़े, तुर्की में भी इजाफा

स्पेन: पर्यटकों की संख्या में 64 फीसदी का इजाफा हुआ है। अर्थव्यवस्था में 2500 करोड़ रुपए अतिरिक्त आए।
तुर्की: पर्यटकों की संख्या 2019 की तुलना में 74 फीसदी बढ़ी है। 2100 करोड़ रुपए अतिरिक्त आए।
पुतर्गाल: पर्यटकों की संख्या में 68 फीासदी का इजाफा हुआ। 2200 करोड़ रुपए अर्थव्यवस्था में आए।

क्यों नहीं जा रहे ब्रिटेन : टीके की दर कम, नियम ताक पर

  • ब्रिटेन में अब तक 69 फीसदी लोगों को ही टीका लगा है जबकि पुर्तगाल में 87 फीादी लोगों को टीका लग चुका है।
  • ब्रिटेन में अब भी लोग कोरोना गाइडलाइंस की पालना पूरी तरह से नहीं कर रहे हैं। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इसी माह एक अस्पताल के दौरे के दौरान बिना मास्क के नजर आए थे।

 

Source link

.