Corona Vaccine Update: अब तक 10% से भी कम लोगों में एंटीबॉडी डेवलप हुई- WHO

0
397
Covid-19 in UP
.

वर्ल्ड डेस्क. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने कहा कि दुनिया में 10% से भी कम लोगों में कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए एंटीबॉडी डेवलप हो पाई है। चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने बताया कि सिर्फ वैक्सीनेशन के जरिए ही हम ज्यादा से ज्यादा लोगों में हर्ड इम्यूनिटी डेवलप कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि मौजूदा वक्त में लगाई जा रही वैक्सीन कोरोना के सीवियर केसों पर कारगर साबित हो रही है। माइल्ड डिसीज और बिना लक्षण वाले संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन कितनी असरदार है, इस पर स्टडी की जा रही है।

वहीं, अमेरिका में सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) एडवायजरी कमेटी ने जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन ‘जैनसेन’ को मंजूरी दे दी है। CDC के मुताबिक, अमेरिका में जैनसन वैक्सीन 18 साल या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को दी जा सकती है। CDC डायरेक्टर रोशेले वालेंस्की ने इसका ऐलान करते हुए बताया कि जैसे ही हमें वैक्सीन की डोज मिलनी शुरू हो जाएगी, हम इससे वैक्सीनेशन शुरू कर देंगे। वैक्सीनेशन प्रैक्टिस पर बनाई गई एडवाइजरी कमेटी ने इस वैक्सीन के समर्थन में 12-0 से वोट किया। वालेंस्की ने इसे महामारी के खात्मे के लिए एक और माइलस्टोन बताया।

फ्रांस में भी बढ़ रहे केस

फ्रांस में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 19,952 मामले सामने आए हैं। इस दौरान 122 संक्रमितों की मौत भी हुई। फ्रांस में अब तक कुल 37 लाख 55 हजार 968 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। महामारी से अब तक कुल 86,454 लोगों की जानें भी गईं हैं। पब्लिक हेल्थ एजेंसी के मुताबिक, पिछले 7 दिनों में यहां करीब 10 हजार संक्रमितों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। इनमें 1871 लोग वेंटिलेटर्स पर हैं।

शनिवार को मिला था जैनसेन को अप्रूवल

अमेरिका ने शनिवार को जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन ‘जैनसेन’ को इमरजेंसी अप्रूवल दिया था। मॉडर्ना और फाइजर के बाद देश में अप्रूवल पाने वाली यह तीसरी वैक्सीन है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह अमेरिका की पहली सिंगल डोज वैक्सीन है। व्हाइट हाउस के सीनियर ऑफिसर एंडी स्लाविट ने सोशल मीडिया पर कहा था कि तीसरी सेफ और इफेक्टिव वैक्सीन का आना बहुत अच्छी खबर है।

इस वैक्सीन का ट्रायल अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और लैटिन अमेरिका के 44 हजार से ज्यादा लोगों पर किया गया था। US फूड एंड ड्रग रेगुलेटरी एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, यह वैक्सीन कोरोना के मॉडरेट और क्रिटिकल मरीजों को दी गई। इस दौरान यह 66.1% इफेक्टिव रही।

ब्रिटेन पहुंचा ब्राजील वाला कोरोना वैरिएंट

ब्राजील में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन के मामले अब ब्रिटेन में मिलने लगे हैं। रविवार को यहां कोरोना के इस वैरिएंट के 6 मामले सामने के आने के बार हेल्थ अथॉरिटी हरकत में आ गई है। इनमें से 3 मामले इंग्लैंड और 3 मामले स्कॉटलैंड में पाए गए हैं।

कुल मरीज 11.46 करोड़ से ज्यादा

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 11.46 करोड़ से ज्यादा हो गया। 9 करोड़ 2 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 25 लाख 42 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here