रायबरेली- लखनऊ-प्रयागराज हाइवे पर स्थित रेलवे फाटक को खुलवाये जाने की गई माँग

0
179
.

रायबरेली. ऊँचाहार व्यापार मण्डल के अध्यक्ष धर्मेन्द्र मौर्य के नेतृत्व में व्यापारियों का एक प्रतिनिधि मण्डल अपर जिलाधिकारी से मिलकर लखनऊ-प्रयागराज राष्ट्रीय मार्ग पर स्थित रेलवे फाटक को स्थाई रूप से बंद किये जाने की कार्यवाही को रोके जाने हेतु ज्ञापन सौंपा। अपर जिलाधिकारी ने व्यापारियों को अशान्वित किया कि उनकी समस्याओं से जिलाधिकारी को अवगत कराया जाएगा तथा समस्या का निराकरण हेतु प्रयास किये जायेंगे।

ज्ञापन में लिखा गया है कि रेलवे फाटक के ऊपर बने पुल से यातायात प्रारम्भ हो जाने के कारण रेलवे फाटक को स्थाई रूप से बंद किये जाने की कार्यवाही की जा रही है, जो जनहित एवं व्यापारियों हित के विरूद्ध होगा। रेलवे फाटक के समीप लगभग पाँच-छः छोटे-बड़े विद्यालय व बैंक/डाकघर स्थित है, जिनमें हजारों की संख्या में बच्चों व जनमानस का आवागमन निरन्तर बना रहता है, फाटक बंद होने की दशा में सभी लोगों को ओवरब्रिज का उपयोग करना पड़ेा, जिसके कारण दुर्घटनायें घटित होने की प्रबल सम्भावना है।

श्री मौर्या ने बताया कि ऊँचाहार स्थित फिरोज गांधी तापीय विद्युत परियोजना में प्रतिदिन सैकड़ों भारी वाहन जो प्रयागराज व लखनऊ आदि से आते हैं, उनके लिए भी समस्या उत्पन्न होगी, क्यांेकि ओवरब्रिज से वाहन टर्न नहीं हो सकते, यही नहीं रेलवे फाटक स्थाई रूप से बंद होने के परिणाम स्वरूप नगर दो भागों में विभक्त हो जाएगा, नगरवासियों व अन्य क्षेत्रीय जनता, व्यापारियों के आवागमन का सुरक्षित मार्ग पूर्णतया अवरूद्ध हो जाएगा।

ज्ञापन के माध्यम से मांग की गयी है कि आम जनमानस की समस्याओं को देखते हुए रेलवे फाटक बंद होने से रोकने एवं सर्विस रोड व जल निकासी की समुचित व्यवस्था की जाए। ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से शिवकमार गुप्ता, हरिशंकर साहू, एजाज अहमद, राजू सोनी, शिव कुमार गुप्ता, नेवाज गुप्ता, प्रमोद कुमार मौर्य, मो0 असलम आदि लोग उपस्थित रहे।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here