Maharashtra: अजित पवार राज्यपाल से नाराज, कहा- विधान परिषद सदस्यों की सूची पर साइन करने में क्या दिक्कत है…

0
146
.

पुणे. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कई महीनों से गवर्नर (Maharashtra Governor Bhagat Singh Koshyari) के अनुमोदन के लिए भेजी गई विधायकों (एमएलसी) की सूची पर अभी तक गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने हस्ताक्षर नहीं किये हैं। उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Deputy CM Ajit Pawar) इस बात से नाखुश हैं। उन्होंने कहा कि गवर्नर महोदय को अब देर नहीं करनी चाहिए। वरना उनसे मिलकर रुकी हुई इन नियुक्तियों पर विचार विमर्श करना होगा।

पत्रकारों से बात करते हुए डिप्टी सीएम अजित पवार (Deputy CM Ajit Pawar) ने आज यह नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि गवर्नर ने अभी तक संभावित विधानपरिषद सदस्यों की सूची पर कोई फैसला नहीं लिया है। उन्होंने बताया कि गवर्नर को 12 लोगों के नाम दिए गए हैं। सभी नियम और शर्तों का पालन करते हुए राज्य सरकार ने यह नाम दिए हैं। कैबिनेट में भी इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। खुद मुख्यमंत्री ने गवर्नर को इस बाबत पत्र भी लिखा है। हमारे पास पूर्ण बहुमत भी है। सभागृह में भी हमने 171 विधायकों के साथ बहुत सिद्ध किया है। इसलिए दिए गए नामों पर गवर्नर को विचार करना चाहिए।

समय सीमा है या नही?

अजित पवार (Deputy CM Ajit Pawar) ने कहा कि गवर्नर नियुक्त सदस्यों के लिए जो कुछ कदम सरकार की तरफ उठाए जाने थे वह सब किए गए हैं। इतना सब कुछ करने के बाद भी उन्होंने अंतिम हस्ताक्षर नहीं किया है। इसलिए समय निकाल कर उनसे मिलना पड़ेगा तब पता चल पाएगा कि आखिर वे हस्ताक्षर क्यों नहीं कर रहे हैं। आखिर और कितनी प्रतीक्षा करनी होगी?

पुणे महानगर पालिका का चुनाव (Pune Municipal Corporation Election) साथ में लड़ेंगे

अजित पवार (Deputy CM Ajit Pawar) ने बताया कि आगामी पुणे महानगर पालिका के चुनाव अघाड़ी सरकार के तीनों दल एक साथ मिलकर लड़ेंगे। इसके लिए शिवसेना और कांग्रेस से बातचीत की जाएगी। पुणे महानगर पालिका (Pune Municipal Corporation) में वोटों का बंटवारा ना हो और ग्राम पंचायत की तरह इस चुनाव में भी विजय मिले इसके लिए हम प्रयास करेंगे।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here