माफिया मुख्तार अंसारी गिरोह के सदस्य शाहजामा उर्फ़ नैय्यर पर प्राथमिकी दर्ज़, पुलिस ने जब्त की संपत्ति

0
195
.

आजमगढ़: एक बार फिर पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी के गुर्गों पर शिकंजा कसा है. मुख्तार के लिए काम करने वाले शाहजमा उर्फ नैय्यर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए कूटरचित फर्जी पेन कार्ड बनवाने के मामले में एक और मुकदमा दर्ज़ कर लिया गया है. शाहजमा उर्फ़ नैय्यर मुख़्तार गैंग का सदस्य हैं और उसके इशारे पर वह आपराधिक घटनाओं को अंजाम देता आ रहा था. उसने अपने रसूख और अवैध कमाई से राजधानी समते कई जिलों में अकूत सम्पत्ति खड़ी की, जिसे अब आजमगढ़ पुलिस जप्त करेगी. शाहजमा उर्फ़ नैय्यर फ़िलहाल एक हत्या के मामले में जौनपुर जेल में निरुद्ध है।

बरदह थाना क्षेत्र के फेटी गांव निवासी शाहजमा उर्फ नैय्यर जिले का टॉप टेन अपराधी है, जो माफिया मुख़्तार अंसारी गिरोह के लिए काम करता है. इसके खिलाफ बीते वर्ष पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की थी, जिसकी विवेचना मेहनाजपुर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह कर रहे थे. विवेचना के दौरान प्रकाश में आया कि शाहजमा उर्फ नैय्यर ने फर्जी पता दिखाकर मकान नं. 529-KA/179 खुर्म नगर लखनऊ में फर्जी पेन कार्ड लगाकर वर्ष 2014-2015 से वर्ष 2020-2021 तक प्रत्येक वर्ष आयकर रिटर्न दाखिल किया गया है. इसे अन्य कार्यों में भी इसका इस्तेमाल किया है।

जौनपुर जेल में है बंद

मामले के खुलासे के बाद एसपी के निर्देश पर बरदह थाने में इसके खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज़ किया गया है. पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि शाहजमा उर्फ़ नैय्यर माफिया मुख़्तार अंसारी गिरोह के लिए काम करता है. जो अभी जौनपुर जेल में निरुद्ध है।

14-A के तहत जब्त होगी संपत्ति

इसके द्वारा गलत अभिलेख लगाकर कूटरचित व फर्जी तरिके से पेन कार्ड बनवाकर उपयोग किया जा रहा था. मामला संज्ञान में आने के बाद इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. इसकी सम्पत्तियों की जांच की जा रही है. जल्द ही 14-A के तहत जब्तीकरण की कार्रवाई भी की जायेगी।

.