कोविड प्रोटोकॉल के साथ 10वीं तथा 12वीं कक्षा की इम्प्रूवमेंट परीक्षा शुरू

0
79
.

लखनऊ, उत्तर प्रदेश बोर्ड ने वर्ष 2021 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा कोरोना संक्रमण के कारण नहीं कराई थी। दोनों कक्षाओं के करीब 56 लाख छात्र-छात्राओं को प्रोन्नत कर दिया गया था। प्रोन्नत करने के बाद दिए गए अंक से हजारों छात्र-छात्राएं संतुष्ट नहीं थे। इसके लिए बोर्ड से उनसे आवेदन लिए और अंक सुधार की परीक्षा तय कर दी।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा उत्तर प्रदेश के हर जनपद पर शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश बोर्ड में 2021 की परीक्षा में अपने अंक सुधारने के लिए छात्र-छात्राओं को मौका दिया जा रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण इस बार बोर्ड की दसवीं व 12वीं कक्षा की परीक्षा आयोजित नहीं की गई थी। पिछले परिणाम के आधार पर छात्र-छात्राओं को प्रोन्नत किया गया। इसके बाद भी छात्र-छात्राओं को अंक सुधारने का मौके देने के लिए यह परीक्षा आयोजित की जा रही है। विभिन्न विषयों की यह इम्प्रूवमेंट परीक्षा छह अक्टूबर तक आयोजित की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में आज से उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की अंक सुधार परीक्षा शनिवार को प्रात: सत्र से शुरू हो गई है। सभी 590 परीक्षा केन्द्रों को परीक्षा के दौरान कोविड प्रोटोकाल का सख्ती से पालन कराने के निर्देश जारी हैं। अंक सुधार परीक्षा में हाईस्कूल तथा इंटर के 79286 परीक्षार्थी इसमें सम्मिलित हैं। हाईस्कूल की परीक्षा चार अक्टूबर व इंटर की छह अक्टूबर तक चलेगी। हाईस्कूल परीक्षा 12 और इंटरमीडिएट की 15 कार्य दिवसों में संपन्न होगी। सभी परीक्षा केंद्रों पर 8,302 सीसीटीवी व 4,151 वायस रिकार्डर लगाए गए हैं। इस बार भी परीक्षा को नकल विहीन कराने के लिए समस्त जनपदों में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। नकल विहीन परीक्षा परीक्षा केन्द्रों पर एसटीएफ की भी निगरानी रहेगी। परीक्षा के दौरान सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को कायर्पालक मजिस्ट्रेट की शक्तियां दी गई हैं। सभी परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 लागू है। हर केन्द्र परिसर में मोबाइल फोन प्रतिबंधित है।

लखनऊ में एक केन्द्र के प्रधानाचार्य ने जिन बच्चों को उत्तर प्रदेश बोर्ड ने हाईस्कूल तथा इंटर की परीक्षा के परिणाम घोषित होने के बाद अंक सुधारना था, उनको बोर्ड ने मौका दिया है। हमारे केन्द्र पर यहां पर कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के सभी नियमों का शासन से मिले निर्देश के क्रम में पालन किया जा रहा है।

लखनऊ में अपर मुख्य सचिव अराधाना शुक्ला ने हाईस्कूल व इंटर में अंक सुधार की परीक्षा के दौरान रामपाल त्रिवेदी इंटर कॉलेज गोसाईगंज में निरीक्षण भी किया।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड)वर्ष 2021 की हाईस्कूल व इंटर में बिना परीक्षा के प्रोन्नत छात्र-छात्राओं के लिए शनिवार से अंक सुधार परीक्षा करा रहा है। इसके लिए कुल 79,286 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। प्रदेश भर में परीक्षा 590 केंद्रों पर दो पालियों में होगी। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय (शिविर कायार्लय) लखनऊ में केन्द्रीकृत आनलाइन मानिटरिंग के लिए राज्यस्तरीय कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है, जहां से जिले के प्रत्येक कंट्रोल रूम तथा परीक्षा केंद्र पर नजर रखी जाएगी।

.