गुरुवार को उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक में एयरपोर्ट व मेडिकल कॉलेज निर्माण को मिली मन्जूरी

0
85
.

लखनऊ। गुरूवार को उत्तर प्रदेश कैबिनेट बैठक हुई जिनमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट द्वारा ललितपुर एयरपोर्ट निर्माण को मंजूरी दी गई है। साथ ही 16 जिलो में पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज को भी मंजूरी दी गयी। गुरुवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यह निर्णय हुआ कि मध्य प्रदेश के सटे जिले ललितपुर जिले में एयरपोर्ट को विकसित करने का निर्माण कार्य किया जाएगा।
बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि ललितपुर में स्थापित किए जा रहे बल्क ड्रग पार्क और बुंदेलखंड में विकसित किए जा रहे डिफेंस कॉरिडोर के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला किया है।
कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ ने बताया कि ललितपुर में द्वितीय विश्व युद्ध काल की एक एयर स्ट्रिप थी। जिसे सरकार ने ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के तौर पर विकसित करने का निर्णय किया है। पहले चरण में इस एयरपोर्ट को छोटे विमानों की लैंडिंग के लिए तैयार किया जाएगा और कालांतर में इसे अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में विकसित किया जाएगा।

ललितपुर में एयरपोर्ट की स्थापना के लिए वहां के दो गांवो की कुल 91.773 हेक्टेयर भूमि खरीदी जाएगी। जमीन की कुल लागत 86.65 करोड़ रुपये है। जमीन खरीदने पर 76.75 लाख रुपये की स्टांप ड्यूटी को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। वहां पर रक्षा मंत्रालय की 12.79 हेक्टेयर जमीन है जिसे राज्य सरकार परियोजना के लिए लेगी और बदले में रक्षा मंत्रालय को ग्राम समाज की उतनी ही जमीन देगी।

कैबिनेट बैठक में ललितपुर में एयरपोर्ट बनाने की मंजूरी मिलने पर नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि बुंदेलखंड के विकास के लिए सरकार ने महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। हवाई पट्टी को हवाई अड्डे के रूप में विकसित करेंगे। इससे पर्यटन एवं औद्योगिक विकास को गति मिलेगी।

.