IND vs ENG: लगातार 3 शतक जड़कर जो रूट ने दिखाया अपना दम, जिन्हें FAB-4 से मान लिया था बाहर…

0
163
.

स्पोर्ट्स डेस्क. इंडिया और इंग्लैंड के बीच चेन्नई में पहला टेस्ट खेला जा रहा है। पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट के दोहरे शतक ने इंडिया की मुश्किलें बढ़ा दी है। वहीं अगर जो रूट के रिकॉर्ड देखें तो इस बल्लेबाज ने जब भी टेस्ट में इंडिया के खिलाफ शतक लगाए हैं इंग्लैंड की टीम कभी हारी नहीं है। कुछ साल पहले न्यूजीलैंड के खिलाडी मार्टिन क्रो ने जो रूट को लेकर एक बडी भविष्यवाणी की थी। जो एक बार फिर से सच साबित होती दिख रही है।

न्यूजीलैंड के खिलाडी मार्टिन क्रो ने एक बडी भविष्यवाणी की थी, कि आने वाले दिनों में वर्ल्ड क्रिकेट में विराट कोहली, स्टीव स्मिथ और केन विलियमसन के साथ जो रूट सबसे जबर्दस्त खिलाडी साबित होंगे. यानी ये चौकडी दुनिया पर अपनी बल्लेबाजी से राज करेगी.

मॉडर्न क्रिकेट में बल्लेबाजी की बात इन चार बल्लेबाजों के बिना अधूरी है. लेकिन 2019 और 2020 ऐसे साल रहे, जब रूट का बल्ला उनसे रूठ गया. खासकर एशेज में नाकामी के बाद उन पर जमकर सवाल उठे. यहां तक कि उन्हें FAB-4 से बाहर मान लिया गया था. लेकिन 2021 आते ही कहानी बदल गई. जो रूट ने अपना ऐसा रूप दिखाया कि दुनिया के बडे बडे दिग्गज चकित हैं. वो लगातार तीन शतक जमा चुके हैं. इसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है.

अपने 100वें मैच में जो रूट ने टीम इंडिया की ही जमीन हिला दी. इसके साथ ही उन्होंने साबित कर दिया है कि वह अब भी FAB-4 का ही हिस्सा हैं. वह इस समय अपने तीन समकालीन खिलाडियों से आगे ही हैं. लेकिन पिछले दो साल में उनका बल्ला काफी हद तक खामोश रहा. 2019 में जो रूट ने 12 टेस्ट खेले थे, लेकिन 37 की औसत से 851 रन बनाए. वहीं 2020 में जो रूट 8 मैचों में 42 की औसत से 464 रन बनाए. ऐसे में उनके चौकडी में रहने पर सवाल उठ रहे थे.

बाकी 3 महारथियों का कैसा रहा प्रदर्शन

विराट ने 2020 में सिर्फ 3 टेस्ट खेले थे. इसलिए विराट के 2018 और 2019 का प्रदर्शन देखें तो पता चलता है कि वह लगातार अच्छी फॉर्म में रहे. विराट ने 2018 में 13 टेस्ट में 55 की औसत से 1322 रन बनाए. वहीं 2019 में 8 मैचों में 68 की औसत से 612 रन बनाए. वहीं स्टीव स्मिथ की बात करें तो उन्हेांने 2019 में 8 मैचों में 74 की औसत से रन बनाए. लेकिन 2020 में 3 मैचों में उनका बल्ला ज्यादा नहीं चला.

इस साल रूट ने जमा दी हैं अपनी जडें

इस साल की शुरुआत जो रूट ने ताबडतोड तरीके से की है. उन्होंने अब तक अपनी बल्लेबाजी को नई तरीके से परिभाषित किया है. पहले तीन मैच और तीनेां में शतक.  145 की औसत से रूट ने 582 रन बनाए हैं.

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here