केरल सरकार ने छात्रो को हिन्दी भाषा की ओर प्रेरित करने के लिए’सुरीली हिंदी’ का नया संस्करण लॉन्च किया

0
171
.

तिरुवनंतपुरम: हिन्दी हमारी मात्र भाषा है किन्तु आज कल के कल्चर में अब लोग हिन्दी से दूर होते नजर आ रहे हैं, रोमन हिन्दी नें देवनागरी लिपी की जगह लेली है। जिसके चलते अधिक छात्रों को हिंदी सीखने के लिए आकर्षित करने के लिए, केरल सरकार ने ‘सुरीली हिंदी’ का नया संस्करण लॉन्च किया है। कार्यक्रम का उद्घाटन करने वाले राज्य के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने कहा, “परियोजना समग्र शिक्षा केरल द्वारा कार्यान्वित की जा रही है। ‘सुरीली हिंदी’ के नए संस्करण में हिंदी सीखने को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए एनिमेशन, कठपुतली और चित्र संक्रमण जैसी तकनीकें शामिल होंगी। छात्रों के लिए।”

इस वर्ष, गतिविधियाँ हैं बच्चों के लिए बनाया गया कक्षा 5 से 12 तक। मॉड्यूल में कहानियां, कविताएं और नाटक शामिल हैं।

‘सुरीली हिंदी’ परियोजना का पहला संस्करण शैक्षणिक वर्ष 2016-17 में सभी उच्च प्राथमिक विद्यालयों में हिंदी सीखने में सुधार के उद्देश्य से शुरू किया गया था। 2018-19 शैक्षणिक वर्ष में, यह परियोजना कक्षा 5 से 8 तक के छात्रों पर केंद्रित थी।

2020 में, के दौरान कोविड -19 महामारी, जब शिक्षा को ऑनलाइन मोड में बदल दिया गया तो हिंदी सीखने के लिए अधिक डिजिटल सामग्री को प्रोत्साहन दिया गया।

एक अधिकारी ने सोमवार को कहा, “सुरीली हिंदी 2020′ परियोजना के माध्यम से, चयनित कविताओं की रचना करके डिजिटल वीडियो सामग्री विकसित की गई और संबंधित ग्रेड के व्हाट्सएप समूहों के माध्यम से कक्षा 5 से 8 तक के बच्चों को वितरित की गई।”

.