किसान आंदोलन- तीसरी तिमाही में 10-20 करोड़ का नहीं, बल्कि 70 हजार करोड़ से ज्यादा का नुकसान…

0
352
.

New Delhi. पिछले 2 महीने से भारत में चल रहा किसान आंदोलन (Kisan Andolan) अब अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बन गया है। किसान आंदोलन (Kisan Andolan) की वजह से आम आदमी के साथ साथ सरकार को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। बताया जा रहा है, किसान आंदोलन (Kisan Andolan) की वजह से तीसरी तिमाही में 10-20 करोड़ का नहीं, बल्कि 70 हजार करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है.

जानकारी के मुताबिक, किसान आंदोलन (Kisan Andolan) की वजह से तीसरी तिमाही में 10-20 करोड़ का नहीं, बल्कि 70 हजार करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है. उद्योग मंडल के अध्यक्ष संजय अग्रवाल का कहना है कि अब तक 36 दिन के किसान आंदोलन (Kisan Andolan) से 2020-21 की तीसरी तिमाही में 70,000 करोड़ रुपये का आर्थिक नुकसान अनुमानित है. इसका कारण खासकर पंजाब, हरियाणा और राष्ट्रीय राजधानी Delhi के सीमावर्ती इलाकों में आपूर्ति व्यवस्था में बाधा उत्पन्न होना है.

Delhi-NCR को 27 हजार करोड़ का नुकसान

वहीं दूसरी ओर कैट के मुताबिक, किसान आंदोलन (Kisan Andolan) की वजह से Delhi व NCR को अभी तक 27 हजार करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है. कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया व राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि पंजाब और हरियाणा से Delhi आने वाले माल की आपूर्ति पर बड़ा फर्क पड़ा है. इन दोनों राज्यों से विभिन्न वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित हुई है. हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र एवं देश के अन्य राज्यों से Delhi आने वाले सामान की आपूर्ति पर भी विपरीत प्रभाव पड़ा है.

देशभर में सामानों की आवाजारी हुई प्रभावित

किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के चलते न केवल Delhi सामान आने पर बल्कि Delhi से सम्पूर्ण देश में सामान जाने पर भी काफी प्रभाव पड़ा है. कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने अनुमान लगाते हुए कहा है कि आंदोलन के कारण लगभग 20 प्रतिशत ट्रक देश के अन्य राज्यों से सामान Delhi नहीं ला पा रहे हैं. कैट के अनुसार Delhi में प्रतिदिन लगभग 50 हजार ट्रक देश भर के विभिन्न राज्यों से सामान लेकर Delhi आते हैं और लगभग 30 हजार ट्रक प्रति दिन Delhi से बाहर अन्य राज्यों के लिए सामान लेकर जाते हैं. उधर, अगर एसोचैम के मुताबिक किसानों आंदोलन की वजह से रोजाना 3000 से 3500 करोड़ रुपए का नुकसान दर्ज किया जा रहा है.

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here