लखनऊ- CM योगी ने झांसी के लिए सेफ सिटी का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए…

0
110
.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने झांसी के लिए सेफ सिटी का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन की योजनाओं का अनुश्रवण एस0डी0एम0 स्तर के अधिकारी से कराया जाए। आगामी गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए सुचारु पेयजल उपलब्धता सुनिश्चित करने के समय से प्रबन्ध किए जाएं।
मुख्यमंत्री जी आज जनपद झांसी में झांसी मण्डल के विकास कार्यों और कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य प्रगति पर है। इस कार्य को टीम वर्क के साथ सम्पादित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि लक्षित आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन कार्य पूरी प्रतिबद्धता से किया जाए। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों का सहयोग लेते हुए लक्षित आयु वर्ग के लोगों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने कोविड-19 के दृष्टिगत पूरी सजगता बरतने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक रविवार को समस्त प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला’ आयोजित किया जा रहा है। इसके माध्यम से पात्र व्यक्तियों को ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत कार्ड वितरित किया जाए। लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी विभिन्न शासकीय योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाए। उन्होंने स्वच्छता पर विशेष ध्यान देते हुए डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य प्राथमिकता पर कराए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने जी0एस0टी0 के तहत रजिस्ट्रेशन में वृद्धि के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कैम्प आयोजित कर पात्र व्यक्तियों को विभिन्न पेंशन योजनाओं का लाभ दिलाया जाए। उन्होंने वरासत अभियान तथा स्वामित्व योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि इन कार्यक्रमों को पूरी गति से संचालित किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत परिषदीय विद्यालयों में टॉयलेट, पेयजल सहित विभिन्न मूलभूत आवश्यकताएं अनिवार्य रूप से उपलब्ध रहें। उन्होंने कहा कि पी0एम0 स्वनिधि योजना के तहत अधिक से अधिक स्ट्रीट वेण्डर्स को लाभान्वित किया जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम की तर्ज पर झांसी में अर्बन हाट को संचालित किया जाए। वहां ओ0डी0ओ0पी0 सहित अन्य उत्पादों की हाट लगायी जाए। इससे वहां ज्यादा से ज्यादा लोग जाने के लिए उत्सुक होंगे। उन्होंने कहा कि जन समस्याओं का गुणवत्तापरक और समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। जनप्रतिनिधियों द्वारा प्रेषित किए गए जनहित से जुड़े प्रकरणों में त्वरित निर्णय लेकर आवश्यकतानुसार कार्यवाही की जाए तथा सम्बन्धित जनप्रतिनिधि को अवगत भी कराया जाए। उन्होंने मण्डल मुख्यालय पर मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अन्तर्गत कोचिंग सेण्टर के सुचारु संचालन के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराधियों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही की जाए। कोई भी घटना की जानकारी होने पर तेजी से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। महिलाओं सहित समाज के कमजोर वर्गों के प्रति अपराध कतई बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। अपराध और अपराधियों के प्रति राज्य सरकार की जीरो टॉलरेन्स की नीति है। महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा, स्वावलम्बन, स्वाभिमान तथा सशक्तिकरण हेतु राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

इस अवसर पर जल शक्ति मंत्री डॉ0 महेन्द्र सिंह, आबकारी मंत्री श्री राम नरेश अग्निहोत्री, विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथ्ज्ञा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

.