Maharashtra Politics: उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी कर बुरे फंसे नारायण राणे, गिरफ्तारी के आदेश…

0
120
.

मुंबई. केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) ने सोमवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की। इसके बाद मुंबई में शिवसेना आक्रामक हो चुकी है। वहीं नारायण राणे (Narayan Rane) के नासिक में कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करते हुए जन आशीर्वाद रैली निकालने पर महाराष्ट्र सरकार सख्त हो गई है। नासिक पुलिस ने नारायण राणे (Narayan Rane) के खिलाफ कोरोना गाइडलाइंस के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए क्राइम ब्रांच को उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश दिया है।

दरअसल सोमवार को जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के बारे में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) की टिप्पणी से शिवसेना नेता नाराज हैं। दरअसल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) की आलोचना करते हुए नारायण राणे (Narayan Rane) की जुबान फिसल गई। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Narayan Rane) ने आपत्तिजनक बयान देते हुए कहा है,’अगर होता तो कान के नीचे रख देता।’ राणे ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि केवल एनसीपी ही सत्ता में है। कौन चला रहा है यह सरकार? इस सरकार के पास कोई ड्राइवर नहीं है।

सांसद विनायक राउत का राणे को जवाब

मुख्यमंत्री को लेकर नारायण राणे (Narayan Rane) के बयान के बाद शिवसेना सांसद विनायक राउत (Shiv Sena MP Vinayak Raut) भड़क गए। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि हमेशा अपने राजनीतिक हितों के लिए चापलूसी के आदी रहे नारायण राणे (Narayan Rane) को केंद्रीय मंत्री का पद मिला है। अब जब उन्हें केंद्र में मंत्री पद मिल गया है तो उनका मानसिक संतुलन पूरी तरह से बिगड़ गया है। लेकिन यह ध्यान रखना चाहिए कि हमें यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि हमारे पास मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) या शिवसेना के किसी नेता के बारे में इस तरह के बयान देने वालों के हाथ काटने की शक्ति है।

.