पैसे व नशे की लत ने तय की आतंक की राह, आतंकियों की तलाश जारी

0
30
.

डेस्क न्यूज, मंगलवार को यूपी में पकड़े गए तीनों आतंकियों का मुंबई में आना—जाना था। प्रयागराज से आतंकी जीशान और ओसामा जुड़ें है। जिन्हों ने पाकिस्तान में आईएसआई की ट्रेनिंग ली थी। उन्हें मुंबई अंडरवर्ल्ड से मदद मिल रही थी।यूपी एटीएस मंगलवार को गिरफ्तार तीनों आतंकियों के मुबंई और पिछले दिनों लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों से कनेक्शन तलाश रही है। वहीं मुंबई के माफिया समीर कालिया का प्रतापगढ़ से गिरफ्तार कल्लू उर्फ इम्तियाज से सीधा संपर्क था। लखनऊ से गिरफ्तार आमिर एक स्लॉटर हाउस में काम करने के साथ खजूर भी बेचता था। जिसके चलते प्रयागराज से गिरफ्तार जीशान उसके संपर्क में आया था। यूपी एटीएस ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के इनपुट पर जीशान, आमिर व इम्तियाज को पकड़ा था। यह तीनों आईएसआई के एजेंट के तौर पर प्रदेश में सीरियल ब्लास्ट की तैयारी कर रहे थे।

बताया जा रहा है कि प्रतापगढ़ का इम्तियाज उर्फ कल्लू मुंबई में सिलाई का काम करता था। जहां उसके साथ ऊंचाहार का जमील खत्री समेत पांच लोग उससे जुड़े थे। नशे की लत के चलते यह लोग मुंबई अंडरवर्ल्ड के समीर कालिया के संपर्क में आ गए। जहां से यह लोग आतंकियों को गोला-बारूद व असलहा सप्लाई का काम करने लगे। इम्तियाज ने यूपी में भी आईईडी की स्पलाई की। उसके साथी जमील खत्री से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही उसके साथियों की भी धरपकड़ की जाएगी। वहीं प्रयाग राज से उमेद व उसके एक साथी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। यह लोग भी मुंबई यात्रा के दौरान आतंकियों के संपर्क में आए थे।

लखनऊ मवैया प्रेमवती नगर निवासी आतंकी मोहम्मद आमिर के घर वालों ने खुद को घर में कैद कर लिया है। उन्होंने किसी से मिलने से साफ मना कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक आमिर का बहनोई भी उसके साथियों से संपर्क में था। आमिर ने भी बहनोई के पास समस्कट जाकर ही ओसामा के संपर्क में आया था। वहीं, प्रयागराज से पकड़े गए आतंकियों में भी आमिर का एक रिश्तेदार शामिल है।

कश्मीर से मेवा लाकर बेंचता था आमिर

लखनऊ में पकड़ा गया आतंकी आमिर कश्मीर से खजूर और सूखे मेवा लाकर बिक्री का काम भी करता था। पड़ोसियों के मुताबिक आमिर के घर के आस पास ऐसे लोग भी रहते थे जो ठंड में जम्मू और कश्मीर से आकर मेवा बेचते थे। उनके साथ भी आमिर का उठना-बैठना था। उसके भाई फूड सप्लाई का काम करते हैं। उनका परिवार यहां पर करीब तीस साल से रह रहा है।

मस्कट के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा था ओसामा, प्रयागराज से चला रहा था आतंकी नेटर्वक

ओसामा इसी साल 22 अप्रैल 2021 को लखनऊ से सलाम एयर लाइन की फ्लाइट से मस्कट, ओमान पहुंचा था। मस्कट में ओसामा की मुलाकात प्रयागराज निवासी जीशान से हुई। यह लोग पिछले दिनों ही प्रयागराज लौटे थे। जहां आसोमा एक मदरसे में पढ़ाकर आतंकी नेटवर्क तैयार करने के साथ यूपी में आतंक फैलाने की तैयारी कर रहा था।

बता दें, आतंकियों को ऊंचाहार अकौढ़िया निवासी लाला ऊर्फ मूलचंद्र आरडीएक्स सप्लाई करने का काम करता था। एटीएस उसके दो साथियों को भी उठा ले गई है। जो उसके साथी थे। मूलचंद्र उर्फ लाला इंटर तक पढ़ा है। उसके घर में पत्नी और दो बच्चे हैं।

11 जुलाई को लखनऊ में हुई थी आतंकियों की गिरफ्तारी
11 जुलाई को एटीएस ने लखनऊ से आतंकी संगठन अलकायदा के समर्थित अंसार गजवातुल हिंद माड्यूल के आतंकी मिनहाज, मसीरुद्दीन शकील, मुस्तकीम व मुईद को गिरफ्तार कर कुकर बम बरामद किया था। इनका कानपुर से मेरठ तक कई शहरों से गहरे कनेक्शन सामने आए थे। इसी के चलते मंगलवार को पकड़े गए आतंकियों का इनसे कनेक्शन तलाशा जा रहा है।

.