Viral: बंदर को अपनी जान बचानी है, तो तेंदुए को भूख मिटानी है, Video में देखें दोनों का संघर्ष

0
130
.

जरा हटके. बंदर और तेंदुए का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा ये वीडियो बंदर के फु्र्तीलेपन की तो तारीफ कर रहा है, लेकिन तेंदुए की ताकत का तो मजाक ही उड़ा रहा है. वीडियो में बंदर के जान बचाने के जज्बे के आगे तेंदुए की भूख मिटाने की इच्छा काफी फीकी पड़ रही है.

इस वीडियो को आईएफएस अधिकारी सुशांता नंदा ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है, उन्होंने ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए ये वीडियो साझा किया. यह वीडियो नंदा ने 29 जुलाई को ट्वीट किया था, जिसे अबतक 21 हजार से अधिक व्यूज और 2400 लाइक्स मिल चुके हैं। इस वीडियो में एक ओर तो तेंदुआ बंदर का शिकार करने के लिए झपट रहा है और बंदर तक पहुंचने की कोशिश कर रहा है. इसके विपरीत दूसरी ओर बंदर बचने के लिए पेड़ पर इधर से उधर कूद रहा है. वीडियो में तेंदुए को शिकार करने और बंदर को शिकार बनने से बचने का संघर्ष साफ दिखाई दे रहा है. इस वीडियो क्लिप में बंदर अपनी फुर्ती से कूदते-फानते हुए बचने की कोशिश कर रहा है और तेंदुआ बंदर को न पकड़ पाने के कारण काफी लाचार दिखाई दे रहा है और काफी परेशान भी लग रहा है. दोनों एक ही पेड़ पर एक-दूसरे का सामना कर रहे हैं.

भूख मिटेगी या जान बचेगी?

वीडियो में जैसे ही तेंदुआ पेड़ की एक डाल पर चढ़ने की कोशिश करता है, ऊपर की डाल पर बैठा बंदर तुरंत ही कूदकर दूसरी डाल पर चला जाता है. ये घटना दोनों द्वारा बार-बार दोहराए जाने पर तेंदुआ काफी हताश दिखाई देने लगता है और बंदर ये साबित कर देता है कि फुर्तीलेपन के सामने ताकत धरी की धरी रह जाती है. वीडियो में बंदर के जान बचाने के जज्बे के आगे तेंदुए की भूख मिटाने की इच्छा काफी फीकी पड़ रही है. यह वीडियो बता रहा है कि जंगल में जीने के लिए कितना संघर्ष करना पड़ता है, क्योंकि बंदर और तेंदुए दोनों को जीना है. लेकिन एक तरफ जहां बंदर को जीवित रहने के लिए खुद को तेंदुए से बचाना है, वहीं तेंदुए को भी अपनी भूख मिटाने के लिए उसका शिकार करना है. एक तरह से दोनों ही जीवन के धर्म को निभा रहे हैं.

हालांकि, यह वीडियो एक प्वाइंट पर खत्म हो जाता है, इसलिए लोगों को यह जानने की इच्छा जरूर है कि आखिर में बंदर की जान बची या तेंदुए की भूख मिटी. हालांकि शायद वीडियो का आगे का हिस्सा कुछ दिनों बाद सामने आये या न भी आये. लेकिन आप खुद सोचिए कि इस जंग को किसके जीतने पर आपको खुशी होगी?

.