रोजाना पुनीत राजकुमार के स्मारक पहुंच रहे हैं 30 हजार से ज्याद फैंस, सुरक्षा के लिए 300 पुलिसकर्मी हैं तैनात

0
54
.

बेंगलुरु: कन्नड़ के पॉवर स्टार पुनीत राजकुमार को गुजरे आज पूरे 11 दिन बीत चुके हैं, हालांकि कर्नाटक के कई लोग ऐसे हैं जिनके लिए इस सदमे से उभरना बेहद मुश्किल है। ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो 31 अक्टूबर को हुए अंतिम संस्कार से लेकर अब तक रोजाना पुनीत के स्मारक में हजारों लोग पहुंच रहे हैं।

हाल ही में आई रिपोर्ट के अनुसार पुनीत राजकुमार के स्मारक में रोजाना 30 हजार से ज्यादा फैंस पहुंच रहे हैं। 29 अक्टूबर को हार्ट अटैक से हुई मौत के बाद 31 अक्टूबर को राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार हुआ था।

स्मारक में तैनात 300 पुलिसकर्मी

रिपोर्ट के अनुसार पुनीत के स्मारक में 300 से ज्यादा कर्नाटक स्टेट रिसर्व पुलिस और बेंगलुरु सिटी पुलिस तैनात है। हर पुलिसकर्मी यहां 12 घंटे की ड्यूटी दे रहा है। पुलिस द्वारा आम जनता को स्मारक में जाने की सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक की इजाजत दी जा चुकी है। ऐसे में रोजाना औसत 30 हजार लोग स्मारक पहुंच रहे हैं।

16 नवम्बर को सैंडलवुड कम्यूनिटी देगी पुनीत को श्रद्धांजलि

16 नवम्बर को सैंडलवुड इंडस्ट्री से जुड़े कई लोग पुनीत राजकुमार को पैलेस ग्राउंड में श्रद्धांजलि देंगे। इस इवेंट को पुनीत नमन नाम दिया गया है। इस बारे में प्रोड्यूसर और कर्नाटक फिल्म चेंबर के पूर्व प्रेसिडेंट सारा गोविंदु ने कहा है, सिर्फ पुनीत के परिवार वालों और सैंडलवुड फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को इस इवेंट में शामिल होने की इजाजत है। मैं फैंस से विनती करता हूं कि वो इस इवेंट से दूर रहें और टेलीविजन में लाइव टेलीकास्ट देखें।

पुनीत की मौत से सदमे में लाखों फैंस

पुनीत राजकुमार की मौत की खबर सुनकर 7 लोगों को दिल का दौरा पड़ा है, जबकि 3 लोगों ने सदमे में आत्महत्या कर ली है। पुनीत ने मरने से पहले नेत्रदान करने का संकल्प लिया था, जिनकी आंखों को एक नेत्र अस्पताल में दान किया गया है। खबर सामने आने के बाद एक्टर के तीन फैंस ने उन्हीं की तरह नेत्रदान करने के लिए आत्महत्या कर ली है। साथ ही इससे कर्नाटक के आई डोनर्स में बढ़ोतरी हुई है।

.