नवागत डीएम विशाख जी. अय्यर ने एलएलआर अस्पताल में किया निरीक्षण, स्वास्थ्य सेवाओं पर दिया जोर

0
90
.

कानपुर, नवागत डीएम विशाख जी. अय्यर बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं पर जोर देते हुए सुबह सबसे पहले एलएलआर अस्पताल में व्यवस्थाएं देखी। बता दें, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव पद पर तैनात रहे आइएएस अफसर विशाख जी. ने कानपुर में डीएम पद का कार्यभार संभालते ही स्वास्थ्य सेवाओं पर विशेष ध्यान आकृष्ट किया है। कामकाज संभालने के दूसरे दिन शनिवार सुबह वह सीधे मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल निरीक्षण करने पहुंच गए और व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए मरीजों को बेहतर उपचार दिलाए जाने की बात कही।
एलएलआर अस्पताल के मेटरनिटी वार्ड के बाहर जमीन पर बैठे लोगों को देखकर डीएम ने नाराजगी जाहिर की। इसपर प्राचार्य डा. संजय काला ने बताया कि जल्द ही और वेटिंग रूम व्यवस्थित करके समस्या का निदान किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि कानपुर शहर में नवागत डीएम विशाख जी. अय्यर ने शनिवार की सुबह जीएसवीएम मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल में निरीक्षण करके व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. संजय काला से एलएलआर अस्पताल में मरीजों को दी जा रही सुविधाओं की जानकारी हासिल की। उन्होंने वार्ड में जाकर मरीजों से बात की और अस्पताल परिसर में ई-एंबुलेंस की खूबियों और ऑक्सीजन की उपलब्धता को सुचारू रखने को कहा। कोविड वार्ड में सैंपल की जांच और ऑक्सीजन की उपलब्धता के साथ डॉक्टरों से भी कार्यप्रणाली की जानकारी हासिल की। पीआईसीयू वार्ड में बच्चों को समय पर बेहतर उपचार प्राथमिकता से दिए जाने पर जोर दिया। मुख्य विकास अधिकारी डा. महेंद्र कुमार ने डीएम के साथ बच्चों के वार्ड में तीमारदारों से बातचीत करके मरीज रजिस्टर की जांच की। बाल रोग के विभागाध्यक्ष डा. यशवंतराव से आने वाले मरीजों और बच्चों में बुखार के बाबत जानकारी लेने के साथ उपचार का तरीका भी पूछा। साथ ही बुखार पीड़ितों का उपचार कैसे किया जा रहा है, यह भी पूछा।

डीएम ने सिक न्यू बोर्न बेबी यूनिट का निरीक्षण किया। न्यूरोसाइंस यूनिट का जायजा लेने के बाद डीएम ने ट्रामा सेंटर की नई बिल्डिंग का काम देखा और समय पर काम पूरा करने के लिए कार्यदाई संस्था से अपडेट लेते रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की उपलब्धता निर्धारित की जाए और नई बिल्डिंग में तय समय पर सभी काम पूरे कर लिए जाएं। इमरजेंसी के बाहर तीमारदार राजेश और रामबाबू से बातचीत करके डीएम ने समस्या सुनी और निस्तारण के निर्देश दिए।

.